हिमाचल विधानसभा चुनाव : अभी तक कौन जीता कौन हारा.....

विधानसभा में गर्माया सदन, वीरभद्र और प्रो.धूमल में भिडंत

शिमला: प्रदेश के दोनों दिग्गज नेता आज विधानसभा में राज्यपाल अभिभाषण पर चर्चा के दौरान आपस में भिड़ गए। दोनों नेताओं की गहमागहमी से सदन का मौहल गर्मा गया। विधानसभा मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और नेता प्रतिपक्ष प्रो. प्रेम कुमार धूमल क्षेत्रवाद के मुद्दे पर तीखी नोंक-झोंक करते वक्त आपस में उलझ गए तथा जहां दोनों ने एक-दूसरे पर क्षेत्रवाद के मुद्दे को लेकर आरोप लगाए वहीं दोनों नेताओं के बीच तीखी नोक-झोंक देखने को मिली।

नेता प्रतिपक्ष प्रो.प्रेम कुमार धूमल ने 1990 के मल्होत्रा आयोग की रिपोर्ट का जिक्र किया। प्रो.धूमल ने उस रिपोर्ट का हवाला देते हुए कांगड़ा, ऊना, हमीरपुर व  मंडी के कुल 22 दुकानदारों को सेब बहुल एक हलके से जाने को कहा गया था। उन्होंने कहा कि इनकी दुकानें लूटी गई और उन्हें वहां से हटाये जाने को कह दिया। यह सब उस हलके में हुआ, जिस हलके का प्रतिनिधित्व वीरभद्र सिंह ने कई बार किया है। इस पर मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि जब कोई जातिवाद की बात करता है, तो उनका खून खोल जाता है। धूमल ने कहा कि वह जस्टिस मल्होत्रा की रिपोर्ट पढ़ रहे है, उसमें जातिवाद का जिक्र है।

इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वह जातिवाद फैलाने वाली रिपोर्ट को खारिज करते है। उनके लिए सभी हिमाचली एक है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवाद की विचारधारा बीजेपी की है और वे इसका विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल एक है और एक ही रहेगा और कोई भी इसे नहीं तोड़ सकता और न ही इसे क्षेत्रवाद में बांट सकता है। उन्होंने कहा क्षेत्रवाद पर किसी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *