अभिषेक राणा ने की सोशल मीडिया के संयोजकों व सहसंयोजकों की नियुक्ति

भाजपा नेता प्रदेश सरकार के खिलाफ अनाप-शनाप बयानबाजी कर सुर्खियां बटोरने का कर रहे प्रयास : कांग्रेस

  • कांग्रेस नेताओं ने भाजपा नेताओं को लिया आड़े हाथ

शिमला : हिमाचल प्रदेश कांग्रेस नेताओं ने भाजपा के उन नेताओं को आड़े हाथ लिया है जो बेरोजगार भत्ते के नाम पर प्रदेश के युवाओं को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने कहा है कि हिमाचल प्रदेश सरकार ने पहली बार प्रदेश में कौशल विकास निगम की स्थापना कर प्रदेश के पढ़े-लिखे बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार प्रशिक्षण की व्यवस्था कर उन्हें अपने पैरों पर खड़े होने के लिए प्रोत्साहित किया है। उन्होंने कहा है कि कौशल विकास के अन्तर्गत प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे युवाओं को प्रदेश सरकार द्वारा एक हजार रुपये तथा दिव्यांगों के लिए 1500 रुपये मासिक प्रोत्साहन राशि प्रदान की जा रही है। इसके अन्तर्गत पांच वर्षों के लिए 500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है और अभी तक 1.60 लाख युवाओं को कौशल विकास भत्ता दिया गया है।

राज्य उद्योग विकास निगम के उपाध्यक्ष अतुल शर्मा, एचपीएमसी के अध्यक्ष महेन्द्रस्तान, उपेंद्र कांत मिश्रा, विवेक कुमार युवा कांग्रेस के महासचिव यदुपति ठाकुर ने एक बयान में भाजपा के उस बयान की कड़ी आलोचना की है जिसमें उन्होंने प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह को कौशल विकास निगम का निदेशक बनाने पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा है कि विक्रमादित्य सिंह प्रदेश में युवाओं का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं और प्रदेश सरकार को युवाओं की आधुनिक सोच से अवगत भी करवा रहे हैं। विक्रमादित्य सिंह के प्रयासों से प्रदेश के कई जिलों में कौशल विकास निगम के माध्यम से रोजगार मेलों का आयोजन तक किया गया और उन्हें निजी क्षेत्र में नौकरियां उपलब्ध करवाई गईं। उन्होंने कहा कि विक्रमादित्य सिंह युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहित करने के जो प्रयास कर रहे हैं उससे ऐसा लगता है कि भाजपा के नेता परेशान हो चले हैं। भाजपा की सोच युवाओं के प्रति नकारात्मक रही है और यही वजह है कि आज भी प्रदेश में युवाओं का एक बड़ा वर्ग कांग्रेस पार्टी के साथ जुड़ा है। उन्होंने कहा है कि भाजपा विक्रमादित्य की बढ़त लोकप्रियता से घबरा गई है और निराशा में बेबुनियाद बयानबाजी कर रही है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा है कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में प्रदेश सरकार के चार वर्षों का कार्यकाल शानदार रहा है और भाजपा के पास प्रदेश सरकार के खिलाफ कोई बड़ा राजनैतिक मुददा नहीं है। अखबारों की सुर्खियों में बने रहने के लिए भाजपा के नेता प्रदेश सरकार के खिलाफ अनाप-शनाप बयानबाजी कर सुर्खियां बटोरने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनावों में प्रदेश में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में फिर से कांग्रेस पार्टी की सरकार बनेगी और भाजपा मुंह देखती रह जाएगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *