ई-वीजा पर भारत आने वाले पर्यटकों के लिए प्री-लोडेड सिम कार्ड की शुरुआत

ई-वीजा पर भारत आने वाले पर्यटकों के लिए प्री-लोडेड सिम कार्ड की शुरुआत

नई दिल्ली: पर्यटन एवं संस्‍कृति राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) डॉ. महेश शर्मा ने ई-वीजा पर भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों को प्री-लोडेड सिम कार्ड उपलब्‍ध कराने के लिए आज पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार की पहल की शुरुआत की। इस अवसर पर संबोधित करते हुए डॉ. शर्मा ने कहा कि इस विशिष्‍ट पहल से भारत में अपने आगमन के तुरंत बाद विदेशी पर्यटकों को अपने प्रियजनों के साथ बातचीत करने में सहायता मिलेगी। इससे पहले पर्यटन मंत्रालय ने 12 भारतीय भाषाओं में चौबीसों घंटे उपलब्ध होने वाली पर्यटक हेल्‍पलाइन 1800111363 की भी शुरुआत की थी ताकि विदेशी पर्यटकों को उनकी अपनी भाषा में आवश्‍यक जानकारी मिल सके। डॉ. शर्मा ने इस सिम वाली पहली किट यात्रा और पर्यटन क्षेत्र के एक प्रतिनिधि को सौंपी। पर्यटन सचिव विनोद जुत्‍सी, संचार सचिव जे. एस. दीपक और वरिष्‍ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

इस पहल की शुरुआत भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के सहयोग से की गई है जि‍समें बीएसएनएल ई-वीजा पर भारत आने वाले विदेशी यात्रियों को प्री-लोडेड सिम कार्ड बांटेगा। यह सुविधा शुरुआत में इंदिरा गांधी अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डा (टी-3 टर्मिनल) नई दिल्‍ली पर उपलब्‍ध होगी। इसे बाद में ई-वीजा सुविधा उपलब्‍ध होने वाले बकाया 15 अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डों पर भी लागू कर दिया जायेगा।

प्री-लोडेड सिम कार्ड सुविधा प्रदान करने के लिए बीएसएनएल हवाई अड्डे पहुंचने पर विदेशी पर्यटकों से उनके ई-वीजा और पासपोर्ट के पहले पृष्‍ठ की कॉपी प्राप्‍त करेगा। ये सिम कार्ड 50 रुपये के टॉक टाइम और 50 एमबी डेटा के मूल्‍य से प्री-लोडेड होंगे। जिन्‍हें तत्‍काल आधार पर एक्टिवेट कर दिया जायेगा ताकि पर्यटक इस सुविधा का तुरंत लाभ उठा सकें। इस पहल का उद्देश्‍य विदेशी पर्यटकों को कनेक्टिविटी उपलब्‍ध कराना हैं ताकि वे अपने प्रियजनों के संपर्क में रहने में सक्षम हो सकें। इसके अलावा इससे विदेशी पर्यटकों को किसी परेशानी या चिकित्‍सीय आपातकालीन स्थिति के दौरान किसी सहायता या मार्गदर्शन के लिए मंत्रालय की चौबीसों घंटे कार्यरत बहुभाषीय टोल फ्री हेल्पलाइन से संपर्क करने में भी मदद मिलेगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *