प्रदेश भर में हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया 68वां गणतंत्र दिवस

प्रदेश भर में हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया 68वां गणतंत्र दिवस

शिमला: 68वां गणतंत्र दिवस समूचे प्रदेश में धूमधाम व हर्षाल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर राज्य, ज़िला व उप-मण्डल स्तर पर समारोह आयोजित किए गए जिनमें ध्वजारोहण, भव्य मार्च पास्ट और रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम आकर्षण का केन्द्र बने। राज्यस्तरीय समारोह शिमला के ऐतिहासिक रिज पर आयोजित किया गया, जहां राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया। उन्होंने सेना, भारत तिब्बत सीमा पुलिस, एस.एस.बी., पुलिस, होमगार्ड, पूर्व सैनिकों, स्काउट्स, एन.सी.सी. व एनएसएस द्वारा प्रस्तुत भव्य मार्च पास्ट की सलामी ली। ले. अबनम कुमार ने परेड का नेतृत्व किया।

लेडी गवर्नर दर्शना देवी, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और उनकी धर्म पत्नी प्रतिभा सिंह भी इस अवसर पर उपस्थित थे। राज्य सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा इस मौके पर प्रस्तुत झांकियां समारोह का मुख्य आकर्षण बनीं। भारी वर्षा के कारण सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन गेयटी थियेटर में किया गया जिसमें प्रदेश के विभिन्न ज़िलों के सांस्कृतिक दलों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

  • कांगड़ा ज़िला

धर्मशाला में जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह की अध्यक्षता प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष बृज बिहारी लाल बुटेल ने की। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि लगभग सात दशकों की यात्रा में हिमाचल प्रदेश ने शिक्षा, स्वास्थ्य, समाज कल्याण, कृषि, बागबानी जैसे क्षेत्रों में अनेक उपलब्धियां अर्जित की हैं। हिमाचल शिक्षा व समावेशी विकास के क्षेत्र में आदर्श के तौर पर उभरा है।

  • मण्डी ज़िला

मंडी के सेरी मंच में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह की अध्यक्ष्ता करते हुए स्वास्थ्य एवं राजस्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि राज्य में पिछले चार वर्षां के दौरान 9 उप-मण्डल, 14 तहसीलें तथा 29 उप-तहसीलें बनाई गईं। राज्य में 1329 स्कूल खोले अथवा स्तरोन्नत किए गए, जिनमें विभिन्न श्रेणियों के 5608 पद सृजित किए गए हैं। इस अवधि के दौरान चिकित्सकों के 550 पद और विशेषज्ञों के 60 पद भरे गए तथा नर्सों की विभिन्न श्रेणियों के 600 से अधिक पदों तथा पैरा-मेडिकल स्टॉफ के 502 पद भरे गए हैं ।

  • हमीरपुर ज़िला

खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री जी.एस. बाली ने हमीरपुर में आयोजित जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता करते हुए खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले, परिवहन एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री जी.एस बाली ने कहा कि हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा राजीव गांधी तकनीकी शिक्षा छात्रवृति इस वर्ष से आरंभ की जाएगी जिसमें मेधावी विद्यार्थियों को दस हजार रूपये प्रतिवर्ष छात्रवृति दी जाएगी। हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय के लिए जमीन भी चयनित कर ली गई है तथा 39 करोड़ की लागत से शैक्षणिक खंड का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है।उन्होंने कहा कि परिवहन निगम के बेड़े में 1315 नई बसें शामिल की गई हैं जबकि 300 नई बसें शीघ्र शामिल होंगी।

  • बिलासपुर ज़िला

बिलासपुर में गणतंत्र दिवस समारोह की अध्यक्षता बहुद्देशीय परियोजना एवं ऊर्जा मंत्री सुजान सिंह पठानिया ने की। उन्होंने चंगर स्थित शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों के लिए 111.19 करोड़ रुपये की डॉ. वाई. एस. परमार किसान स्वरोज़गार योजना आरम्भ की है। मुख्य मन्त्री खेत सरंक्षण योजना आरम्भ कर फसलों को जंगली जानवरों व आवारा पशुओं से बचाने के लिए बाड़ लगाने पर 60 प्रतिशत अनुदान देने का प्रावधान किया गया है। किसानों के लिए 154 करोड़ रुपये की राजीव गांधी सूक्ष्म सिंचाई योजना भी कार्यान्वित की जा रही है। उन्होंने कहा कि ऊर्जा बचत को बढ़ावा देने के लिए एल.ई.डी. प्रोत्साहन योजना शुरू की गई है जिसके तहत उपभोक्ताओें को 64 लाख एल.ई.डी. बल्ब उपदानयुक्त दरों पर वितरित किए गए हैं।

  • चम्बा ज़िला

वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी ने चम्बा में आयोजित समारोह की अध्यक्षता करते हुए कहा कि 1580 करोड़ रुपये की लागत से कार्यान्वित होने वाली मध्य हिमालयी जलागम परियोजना के दूसरे चरण के अंतर्गत प्रदेश की 900 नई पंचायतों को शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मध्य हिमालयी जलागम परियोजना जैसी परियोजनाओं में कार्य करने वाले लोगों के लिए एक नीति तैयार की जा रहा है।

  • ऊना ज़िला

उद्योग मंत्री मुकेश अग्रिहोत्री ने ऊना में आयोजित जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं के कौशल विकास के लिए 500 करोड़ रुपये की कौशल विकास भत्ता योजना आरंभ की गई है जिसके अंतर्गत 110 करोड़ रुपये खर्च कर डेढ़ लाख युवाओं को लाभान्वित किया गया है। योजना में पात्र युवाओं को 1000 रुपये और शारीरिक रूप से अक्षम युवाओं को 1500 रुपये प्रतिमाह भत्ता दिया जा रहा है।

  • सिरमौर ज़िला

ज़िला मुख्यालय नाहन में जिला स्तरीय समारोह को संबोधित करते हुए शहरी विकास एवं आवास मंत्री सुधीर शर्मा ने कहा कि नाहन शहर की ऐतिहासिक धरोहरों के सरंक्षण एवं सवंर्धन के लिए शीघ्र ही मास्टर प्लान तैयार किया जाएगा ताकि इसे धरोहर शहर का दर्जा प्रदान किया जा सके। उन्होने नाहन में हिमुडा का मण्डल कार्यालय खोलने की घोषणा भी की। उन्होने कहा कि नाहन शहर के लिए 88 करोड़ की मल निकासी योजना की डीपीआर तैयार कर दी गई है और पांवटा साहिब में अढाई करोड़ की लागत से  सीवरेज के प्रथम चरण का कार्य पूर्ण कर दिया गया है।

  • सोलन ज़िला

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा सैनिक कल्याण मंत्री डॉ. कर्नल धनीराम शांडिल ने ऐतिहासिक ठोडो मैदान में आयोजित ज़िला स्तरीय समारोह में राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा मार्चपास्ट की सलामी ली। उन्होंने चम्बाघाट स्थित शहीदी स्मारक पर कृतज्ञ प्रदेशवासियों तथा जिलावासियों की ओर से शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि भी अर्पित की। डॉ. शांडिल ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश सरकार ने कल्याण योजनाओं के लाभ प्राप्त करने के लिए वार्षिक आय सीमा को 20 हजार रुपये से बढ़ाकर 35 हजार रुपये किया है। राज्य में वर्तमान में 3,87,000 पात्र व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन दी जा रही है।

  • कुल्लू ज़िला

कुल्लू के ढालपुर मैदान में आयोजित जिला स्तरीय समारोह में आयुर्वेद एवं सहकारिता मंत्री कर्ण सिंह ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा परेड की सलामी ली। इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि कुल्लू जिला के प्रवेश द्वार बजौरा में जल्द ही आयुर्वेद कॉलेज व 50 बिस्तरों की क्षमता वाले अस्पताल तथा हर्बल गार्डन की स्थापना की जाएगी। जिला आयुर्वेदिक अस्पताल में पंचकर्मा और क्षार सूत्र चिकित्सा पद्धति शुरू की गई है। जिला के अन्य आयुर्वेदिक अस्पतालों में भी पंचकर्मा की व्यवस्था की जाएगी।

  • किन्नौर ज़िला

हि.प्र. विधानसभा उपाध्यक्ष जगत सिंह नेगी किन्नौर जिला के रिकांगपिओ में जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता करते हुए कहा कि राज्य सरकार जनजातीय क्षेत्रों के विकास के लिए कृत संकल्प है। जनजातीय उप-योजना का आकार 333 करोड रूपये से बढ़कर 468 करोड़ रूपये किया गया है। जनजातीय क्षेत्र उप-योजना के तहत किन्नौर जिलें में 35 करोड़ 2 लाख 85 हजार रूपये व्यय किए जा चुके है।

  • लाहौल स्पिति ज़िला

उपायुक्त लाहौल स्पीति विवेक भाटिया ने जिला मुख्यालय केलंग में आयोजित समारोह की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि जिला ने पिछले चार वर्षां में हर क्षेत्र में विकास के नसे आयाम छूए हैं जिसके कारण जिला को आज देश भर में विकास का आदर्श माना जाता है। उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षां के दौरान जिला में विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के अंतर्गत 170 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए गए। इसके अतिरिक्त विशेष केंद्रीय सहायता के अंतर्गत 5ण्96 करोड़ रुपये खर्च किए गए। जनजातीय उप योजना के अंतर्गत लाहौल मंडल में इस वित्त वर्ष के दौरान 32 करोड़ रुपये विभिन्न विकास कार्यां पर व्यय किए जा रहे हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *