ताज़ा समाचार

राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री ने किया जयललिता के निधन पर शोक व्यक्त

तमिलनाडु की CM जयललिता की स्थिति ‘अत्यंत गंभीर’

  • अभी चेन्‍नई के अस्‍पताल में ECMO व लाइफ सपोर्ट सिस्‍टम पर

चेन्नई : तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की हालत ‘बेहद गंभीर’ बनी हुई है और उन्हें विभिन्न जीवन रक्षक उपकरणों पर रखा गया है। बता दें कि उन्हें बीती शाम दिल का दौरा पड़ा था। अपोलो अस्पताल ने सोमवार को यह जानकारी दी। अपोलो अस्पताल ने बाद में फिर कहा कि बेहतर प्रयासों के बावजूद जयललिता की ‘हालत गंभीर बनी हुई है। अस्पताल के मुख्य संचालन अधिकारी सुबिहा विश्वनाथन ने एक बयान में बताया कि बीती शाम दिल का दौरा पड़ने के बाद जयललिता की हालत ‘लगातार बेहद गंभीर बनी हुई है और वह ईसीएमओ तथा अन्य जीवन रक्षक उपकरणों पर हैं।’ उन्होंने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री का इलाज किया जा रहा है और विशेषज्ञों की एक टीम उनकी गहन निगरानी कर रही है। वहीं, अपोलो अस्पताल की संयुक्त प्रबंध निदेशक संगीता रेड्डी ने ट्विटर की एक पोस्ट में कहा कि हमारे सर्वश्रेष्ठ प्रयासों के बावजूद हमारी प्रिय मुख्यमंत्री की हालत गंभीर बनी हुई है। इससे महज दो घंटे पहले ही अस्पताल की ओर से जारी किए गए एक आधिकारिक बयान में कहा गया था कि जयललिता की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है।

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता की स्थिति ‘अत्यंत गंभीर’ है। यह बात लंदन के उस चिकित्सक ने आज कही जिससे जयललिता के इलाज के लिए मशविरा किया गया था। डा. रिचर्ड बेले ने एक बयान में कहा कि दुर्भाग्य से और उनके स्वास्थ्य में जो सुधार हुआ था उसके बावजूद उनके अंतनिर्हित स्वास्थ्य की स्थिति का मतलब है कि आगे समस्या बने रहने का खतरा बना हुआ है। उन्होंने कहा कि स्थिति अत्यंत गंभीर है लेकिन मैं इसकी पुष्टि करता हूं कि जो भी संभव है वह किया जा रहा है ताकि उन्हें इस स्थिति से बचने का सर्वश्रेष्ठ मौका दिया जा सके। विशेषज्ञों की टीम द्वारा उनकी देखभाल की जा रही है और वह अब अत्यंत आवश्यक जीवन रक्षक प्रणाली पर हैं। उन्होंने कहा कि यह उपलब्ध सबसे उन्नत स्तर की जीवन रक्षक प्रणाली है जो ऐसी स्थिति में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्वश्रेष्ठ केंद्र अपनाएंगे। अपोलो चेन्नई में उपलब्ध यह प्रौद्योगिकी इस केंद्र की उच्च स्तर की विशेषज्ञता को प्रतिबिंबित करती है। पूरे समय मैडम को अपोलो और एम्स देखभाल टीम की ओर से असाधारण देखभाल मुहैया करायी गई है जो कि विश्व में किसी भी देश के बराबर है। डा. बेले ने कहा कि ‘मुश्किल की इस घड़ी’ में उनकी प्रार्थना और विचार मुख्यमंत्री, उनके परिवार, उनकी देखभाल करने वालों और तमिलनाडु के लोगों के साथ हैं।

68 वर्षीय जयललिता को एक्स्ट्राकोरपोरियल मैम्ब्रेन आक्सीजीनेशन (ईसीएमओ) पर रखा गया है जो कि एक हृद्य को मदद करने वाला उपकरण है। हृद्य विशेषज्ञों समेत विभिन्न विशेषज्ञ उनकी हालत पर नजर रख रहे हैं। कुछ समय से बीमार चल रही मुख्यमंत्री की सेहत में पिछले कुछ दिनों में सुधार देखा गया था लेकिन कल शाम उन्हें दिल का दौरा पड़ गया। इस समय एक्‍सपर्ट डॉक्‍टरों की टीम इलाज कर रही है।

उधर, केंद्र ने आज यहां स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से विशेषज्ञों के एक दल को चेन्नई के अपोलो अस्पताल भेजा है जहां पर तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता का इलाज चल रहा है। स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने यहां बताया कि एम्स के चार विशेषज्ञ जल्द ही अपोलो अस्पताल पहुचेंगे। नड्डा ने कहा कि हम अपोलो और तमिलनाडु की सरकार के साथ लगातार संपर्क में हैं। अपोलो अस्पताल के चिकित्सकों का विशेषज्ञ दल उनके स्वास्थ्य पर गहराई से नजर रख रहा है। जयललिता दो माह से भी ज्यादा समय से इस अस्पताल में भर्ती हैं और उनका उपचार किया जा रहा है। अपोलो अस्पताल ने आज सुबह एक ट्वीट में बताया कि चिकित्सक उनकी स्थिति पर करीबी निगाह रखे हुये हैं और अपनी ओर से ‘सर्वश्रेष्ठ’ करने का प्रयास कर रहे हैं। अपोलो अस्पताल के मुख्य संचालन अधिकारी डॉ. सुबैया विश्वनाथन ने जयललिता की हालत अचानक बिगड़ने की घोषणा करते हुए एक वक्तव्य में कहा कि उनका उपचार हृदयरोग विशेषज्ञों, पल्मोनोलॉजिस्ट और गंभीर स्थिति देखभाल विशेषज्ञों समेत विशेषज्ञ चिकित्सकों का एक दल कर रहा है और स्थिति पर नजर रख रहा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने अन्नाद्रमुक प्रमुख जे जयललिता की सेहत में जल्द सुधार की कामना की और कहा कि वह एम्स के विशेषज्ञों के दल की देखरेख में हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘हम जयललिता की सेहत में जल्द सुधार की कामना करते हैं। एम्स के चिकित्सकों का एक दल उनकी देखभाल कर रहा है।’ नड्डा ने ट्वीट में लिखा, एम्स के चिकित्सक दो दिन पहले भी चेन्नई गए थे और आज भी चेन्नई में हैं। जयललिता की तबियत बिगड़ने के बाद तमिलनाडु के राज्यपाल चौधरी विद्यासागर राव कल रात विमान द्वारा मुंबई से चेन्नई आये और अस्पताल पहुंचकर मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली। चौधरी विद्यासागर राव महाराष्ट्र के भी राज्यपाल हैं। केन्द्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन आज सुबह यहां हवाईअड्डे पहुंचे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत भारतीय जनता पार्टी के सभी नेताओं ने जयललिता के स्वास्थ्य में पूर्ण सुधार की कामना की है और उनके लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि बुखार और शरीर में पानी की कमी की शिकायत के बाद जयललिता को 22 सितंबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में यहां उनका श्वांस की समस्या तथा संक्रमण का भी इलाज किया गया। दूसरी ओर, जयललिता की सेहत को लेकर तमिलनाडु में हाई अलर्ट जारी किया गया है। अन्नाद्रमुक के सैकड़ों कार्यकर्ता आज अपोलो अस्पताल के बाहर एकत्र हुए, जहां कुछ लोग तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता का स्वास्थ्य बिगड़ने के समाचार के कारण उदास नजर आए और कुछ लोग अपने आंसुओं को रोक नहीं पाए। जयललिता को कल रात दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद अपोलो अस्पताल में उनका उपचार किया जा रहा है। तिरूवन्नामलाई के परिमाला और उत्तर चेन्नई के सुब्रमण्यम जैसे कई जिलों के पार्टी कार्यकर्ता अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा कि हम इंतजार कर रहे हैं। हमें भरोसा है कि हमें जल्द की शुभ समाचार मिलेगा। अन्नाद्रमुक कार्यकर्ताओं समेत कुछ लोग चिंता में अस्पताल परिसर के आस पास चक्कर काटते दिखाई दिए। पार्टी कार्यकर्ताओं को ईश्वर से प्रार्थना करते देखा गया ताकि उनकी पार्टी सुप्रीमो जयललिता के स्वास्थ्य में सुधार हो। बड़ी संख्या में लोगों के अस्पताल परिसर पहुंचने और परिसर पहुंचने वाली सड़कों पर लोगों का तांता लगे होने के कारण पड़ोसी इलाकों में भी यातायात जाम हो गया है। पुलिस को भीड़ को काबू में करने और यह सुनिश्चित करने में बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है कि मरीजों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो। अस्पताल में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। हालांकि राज्य सरकार ने स्कूलों एवं शैक्षणिक संस्थानों के बंद रहने की घोषणा नहीं की है, कुछ संस्थानों के प्रबंधनों ने उन्हें बंद रखने का निर्णय लिया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *