उपायुक्त ने की हिल्ज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल जुब्बल के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह की अध्यक्षता

उपायुक्त ने की हिल्ज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल जुब्बल के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह की अध्यक्षता

शिमला: बच्चों में करूणा व संवेदना जैसे महत्वपूर्ण गुणों का समावेश होना अत्यंत आवश्यक है। यह विचार आज हिल्ज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल जुब्बल के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त शिमला रोहन चंद ठाकुर ने व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि बेटी का भी बेटे के समान विकास होना अत्यंत आवश्यक है, जिसके लिए स्कूली स्तर पर प्रयास किए जाने चाहिए। बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ, प्रदेश का एक प्रमुख अभियान है, इसकी सफलता के लिए सभी की सहभागिता अनिवार्य है। छात्रों को अपने भविष्य के प्रति एकाग्र और परिश्रम के साथ कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रकार के नशों की समस्याओं से निजात पाने के लिए अध्यापकों के साथ-साथ अभिभावकों को भी ध्यान देना जरूरी है, ताकि बच्चों को इन कुरितियों से दूर रखा जा सके।

उन्होंने कहा कि स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना चाहिए। वातावरण को स्वच्छ बनाने के लिए प्लास्टिक व अन्य कचरा इधर-उधर न फेंके, पानी के स्त्रोंतों की सफाई करें, ताकि स्वच्छता को सुनिश्चित बनाया जा सके। रोहन चंद ठाकुर ने कहा कि महिलाओं के लिए अलग से सार्वजनिक शौचालयों की व्यवस्था की जानी चाहिए। इसके लिए महिला मंडलों को आगे आना चाहिए और प्रयास करना चाहिए, ताकि महिलाओं को यह सुविधा प्रदान की जा सके। उपायुक्त ने पढ़ाई व अन्य शैक्षणिक गतिविधियों में अव्वल स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को पुरस्कृत किया।

हिल्ज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल जुब्बल के बच्चों ने इस वर्ष रक्षाबंधन के अवसर पर राखी के स्टॉल लगाकर 10 हजार रुपये एकत्रित किए गए। बच्चों ने एकत्रित धन राशि उपायुक्त शिमला को रैडक्रॉस सोसायटी के लिए भेंट की। उपायुक्त, रोहन चंद ठाकुर ने विकास खंड कार्यालय जुब्बल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जुब्बल व अन्य संस्थाओं का निरीक्षण भी किया।

इस अवसर पर उपमण्डलाधिकारी रोहड़ू, अनुपम ठाकुर, तहसीलदार जुब्बल, अनिल कुमार, खंड विकास अधिकारी, जीडी शर्मा, एसएचओ मुनीश कुमार व नायब तहसीलदार जुब्बल तथा हिल्ज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल जुब्बल के अध्यक्ष बलवंत झौहटा, प्रधानाचार्य कुसुम पिरटा, अध्यापकगण, स्कूल के छात्र-छात्राएं एवं अभिभावक उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *