अब विधानसभा सत्र के दौरान विधायकों को नहीं मिलेगा सस्ता खाना, सब्सिडी की सुविधा समाप्त

स्वस्थ व सुखी जीवन जीने के लिए संयम से खाना बहुत ज़रूरी

आप ने ‘कम खाओ, गम खाओ’ कहावत तो जरूर सुनी होगी किन्तु अब वैज्ञानिकों ने कम खाने की कहावत का संबंध दिल के दौरे के खतरे को दूर भगाने से भी जोड़ दिया है। वैज्ञानिकों का कहना है कि हालांकि भोजन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है और यह ईश्वर द्वारा दी गई सबसे बड़ी नेमत है लेकिन अगर हम बिना सोचे-समझे इसका जरूरत से ज्यादा उपयोग करते रहे तो ईश्वर प्रदत्त यही नेमत हमारे लिए मुसीबत का सबब बन सकती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि जो व्यक्ति असामान्य रूप से गरिष्ठ अथवा अधिक मात्रा में भोजन लेते हैं, उन्हें आगामी दो घंटे की अवधि के भीतर दिल का दौरा पड़ने की संभावना चार गुणा तक बढ़ जाती है भोजन के एक घंटे बाद तक तो यह खतरा 10 गुना तक होता है और उसके बाद जैसे-जैसे समय बीतता जाता है, यह खतरा कम होता चला जाता है। यह निष्कर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने हृदयाघात की वजह से अस्पताल में भर्ती करीब 2000 मरीजों द्वारा दिल का दौरा पड़ने से पहले लिए गए भोजन के बारे में जानकारी एकत्रित करने के बाद निकाला है। यह जानकारी एकत्रित करने के बाद स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने पाया कि इन व्यक्तियों ने हृदयाघात वाले दिन अन्य दिनों की अपेक्षा ज्यादा भारी भोजन किया था। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार हृदयाघात की कई वजहें हो सकती हैं लेकिन जिन लोगों को पहले हृदयाघात हो चुका है, उन्हें खाने-पीने के मामले में विशेष सावधानी बरतनी चाहिए तथा सीमित मात्रा में भोजन करना चाहिए।

हम में से कई लोग खाने को इतना पसंद करने वालों में से हैं कि हम खाने के लिए जि़ंदा रहते हैं। स्वस्थ और सुखी जीने के तरीके को अपनाने के लिए संयम से  खाना बहुत ज़रूरी है। हम आपके लिए ऐसे नवीन तरीके लाये हैं जिनकी मदद से आप अपने आप को कह पायेंगे, जऱा कम खाओ। ज्यादा खाने से कई प्रकार की बीमारियां हो जाती हैं और साथ में मोटापा भी बढने लगता है। अगर आपने खाने पर कंट्रोल नहीं रखा तो आप तो परेशान होगें ही होगें लेकिन साथ में आपकी मां या कोई भी अन्य खाना बनाने वाली भी परेशान हो जाएगी। तो ऐसे में अच्छा होगा कि आप अपनी जुबान पे समय रहते ताला लगा लें।

फूडनीरस खाना जब आपको बेवक्त और ज़्यादा भूख लगे तो दुनिया के सारे नीरस खाने के बारे में सोचें। संभवत: इसके बाद आपको खाने के अलावा दूसरी गतिविधि में मन लगने लगेगा।

रात को खाने की आदत छोडऩा वह सब लोग जो देर रात तक जग कर फिल्में देखना पसंद करते हैं, उनमें असाधारण रूप से अल्पाहार लेने की आदत होती है।

पहले सूप लें दिन के मुख्य आहार से पहले अपनी पसंद का सूप या पानी पी सकते हैं ताकि मुख्य आहार लेने के समय आपके पेट में ज्यादा जगह न बचे। पेट में जा चुके तरल पदार्थ से आपका पेट भरा सा लगेगा।

पूरे दिन में थोड़ा थोड़ा खाना लें जिसमें घी या बटर की मात्र काफी कम हो। 

च्युइंगम चबाएं जब आपके आस पास ऐसा खाना हो जिसको देख कर आप अपने आप को रोक नहीं पा रहे हों तो अपने पॉकेट से च्युइंग गम निकालें और थोड़ी देर तक उसे चबाएं। आपका ध्यान अपने आप दूसरी चीज़ों पर चला जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

29  −  28  =