ताज़ा समाचार

हिमाचल प्रदेश ने जीता बेहतर परियोजना निष्पादन पुरस्कार-2015

हिमाचल प्रदेश की “मण्डी” और महाराष्‍ट्र का “सिंधुदुर्ग” देश के सबसे स्‍वच्‍छ जिले

  • पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए ‘स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण’ की रिपोर्ट जारी

 नई दिल्ली: पेयजल तथा स्‍वच्‍छता ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर आज ग्रामीण भारत के लिए ‘स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण’ जारी करते हुए खुलासा किया है कि मंडी (हिमाचल प्रदेश) और सिंधुदुर्ग (महाराष्‍ट्र) देश के सबसे स्‍वच्‍छ जिले हैं। मई 2016 में शुरू किए गए ग्रामीण स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण में 22 पहाड़ी जिलों और 53 मैदानी जिलों को शामिल किया गया था। पहाड़ी जिलों में मंडी को सबसे अधिक स्‍वच्‍छ और मैदानी जिलों में सिंधुदुर्ग सबसे अधिक स्‍वच्‍छ जिले घोषित किए गए। सर्वेक्षण में सिक्किम के जिले, हिमाचल प्रदेश का शिमला, पश्चिम बंगाल का नादिया और महाराष्‍ट्र का सतारा जिला स्‍वच्‍छता सूचकांक में शीर्ष पर पाए गए।

मंत्रालय ने इस सर्वेक्षण के लिए क्‍वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया(क्‍यूसीआई) को जिम्‍मेदारी सौंपी थी। प्रत्‍येक जिले का मूल्‍यांकन चार मापदंडों के आधार किया गया। मापदंडों में सबसे अधिक अंक स्‍वच्‍छ जल और शौचालय की सुलभता को दिए गए। स्‍वच्‍छता का दर्जा निर्धारण करने में निम्‍नलिखित को शामिल किया गया था-

  • लोगों के लिए सुरक्षित शौचालय और इनका प्रयोग(शौचालय का उपयोग, जल की सुलभता, जल का सुरक्षित निपटान) (40 प्रतिशत)
  • घरों के आसपास कूड़ा –कचरा फैला न होना (30 प्रतिशत)
  • सार्वजनिक स्‍थलों पर कूड़ा –कचरा फैला न होना (10 प्रतिशत)
  • घरों के आसपास अवजल का जमाव न होना (20 प्रतिशत)

जमीनी हकीकत और इस दिशा में हो रही प्रगति के मूल्‍यांकन और व्‍यापक विश्‍लेषण के लिए क्‍वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया(क्‍यूसीआई) द्वारा नियुक्‍त मूल्‍यांकनकर्ताओं ने सर्वेक्षण में शामिल किए गए प्रत्‍येक जिले का व्‍यक्तिगत तौर पर दौरा किया।

  संपूर्ण दर्जा  – स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण ग्रामीण
वर्ग दर्जा जिला राज्‍य स्‍वच्‍छता के  प्राप्‍तांक
पहाड़ी 1 मंडी हिमाचल प्रदेश 98.4
पहाड़ी 2 पश्चिमी सिक्किम सिक्किम 96.4
पहाड़ी 3 शिमला हिमाचल प्रदेश 94.1
मैदानी 1 सिंधुदुर्ग महाराष्‍ट्र 96.8
मैदानी 2 नादिया पश्चिम बंगाल 95.0
मैदानी 3 सतारा महाराष्‍ट्र 92.9

इस घोषणा पर अपनी खुशी जाहिर करते हुए नरेंद्र सिंह तोमर ने जिला प्रशासकों, पार्षदों और 75 जिलों के सभी ग्राम पंचायतों को स्‍वच्‍छ भारत मिशन को सफल बनाने और सर्वे में भाग लेने तथा कीमती प्रतिक्रिया देने के लिए बधाई दी। उन्‍होंने मंडी और सिंधुदुर्ग को भी स्‍चच्‍छ भारत मिशन का नेतृत्‍व करने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में आवश्‍यक व्‍यवहार संबंधी जरूरी परिवर्तन का उदाहरण पेश करने के लिए बधाई दी। मंत्री महोदय ने कहा कि यह सर्वेक्षण अभ्‍यास से इस दिशा में हो रहे जमीन पर काम का मूल्‍यांकन के साथ जिलों में सबसे स्‍वच्‍छ जिले का दर्जा पाने के लिए विभिन्‍न जिलों के बीच स्‍वस्‍थ्‍य प्रतिस्‍पर्धा पैदा होगी।

जिलों के विस्‍तृत शहरवार विश्‍लेषण और उनके प्रदर्शन वाले व्‍यापक स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण डैशबोर्ड को स्‍वच्‍छ भारत शहरी पेार्टल https://gramener.com/sbm/ से डाउनलोड किया जा सकता है।

नियमित नवीनतम जानकारी के लिए, कृपया स्‍वच्‍छ भारत मिशन की आधिकारिक सोशल मीडिया प्रॉप्रर्टीज :फेस बुक पेज Swachh Bharat Mission – Grameen | Twitter Handle – @SwachhBharat को फॉलो करें।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8  +  1  =