डिजिटल राशन कार्ड पर मिलेगा राशन

दालों का और अधिक आयात करने का आदेश

  • दिल्‍ली में राष्‍ट्रीय उपभोक्‍ता सहकारी संघ के बिक्री केंद्रों के जरिये प्रति किलो 60 रुपये की दर से चना दाल की होगी बिक्री

नई दिल्ली: उचित मूल्‍यों पर दालों की उपलब्‍धता सुनिश्चित करने के उद्देश्‍य से राष्‍ट्रीय उपभोक्‍ता सहकारी संघ (एनसीसीएफ) को यह निर्देश दिया गया है कि वह दिल्‍ली में अपने मोबाइल बिक्री केंद्रों (आउटलेट) के जरिये प्रति किलो 60 रुपये की दर से चना दाल की बिक्री शुरू करे। एनसीसीएफ अपने बिक्री केंद्रों के जरिये प्रति किलो 120 रुपये की दर से तूर (अरहर) और उड़द की बिक्री पहले से ही कर रहा है। इस संबंध में निर्णय आज यहां मूल्‍य स्थिरीकरण कोष की प्रबंधन समिति की बैठक में लिया गया। उपभोक्‍ता मामलों के सचिव श्री हेम पांडे की अध्‍यक्षता में हुई इस बैठक में बफर स्‍टॉक के साथ-साथ आगे और वितरण के लिए राज्‍यों को आवंटन हेतु दालों के आयात एवं खरीद की समीक्षा की गई। बैठक में 5000 मीट्रिक टन चना एवं 2500 मीट्रिक टन मसूर का और अधिक आयात करने के लिए टेंडर जारी करने का निर्णय लिया गया। बैठक में एमएमटीसी से भी यह कहा गया कि वह पहले से ही अपनी अनुबंधित मात्रा के विरुद्ध 2500 मीट्रिक टन मसूर के आयात का आदेश जारी करे।

अब तक, एमएमटीसी ने 46,000 मीट्रिक टन दालों के आयात के लिए अनुबंध किया है और इसमें से 14,321 मीट्रिक टन दालों का वितरण किया जा चुका है। इसके अलावा 68,000 मीट्रिक टन रबी दालों और 51,000 मीट्रिक टन खरीफ दालों की खरीदारी की गई है। रबी दालों की खरीदारी जुलाई तक जारी रहने की आशा है। उपर्युक्‍त बैठक में छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, बिहार, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, तेलंगाना, मध्य प्रदेश और अंडमान एवं निकोबार को बफर स्‍टॉक से दालों का आवंटन करने को भी मंजूरी दी गई।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *