चम्बा में कार्यशाला के द्वारा जैवविविधता के महत्व व योगदान बारे करवाया जायेगा अवगत : कुनाल सत्यार्थी

चम्बा में कार्यशाला के द्वारा जैवविविधता के महत्व व योगदान बारे करवाया जायेगा अवगत : कुनाल सत्यार्थी

  • प्रशिक्षण कार्यशाला में दी जाएगी जैवविविधता के महत्व, योगदान व संरक्षण की जानकारी
कुणाल सत्यार्थी संयुक्त सदस्य सचिव, राज्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं पर्यावरण परिषद्, हि.प्र.

कुणाल सत्यार्थी संयुक्त सदस्य सचिव, राज्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं पर्यावरण परिषद्, हि.प्र.

शिमला : राज्य जैवविविधता बोर्ड 1 जुलाई को होटल आशियाना रिजेंसी चम्बा में प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन कर रहा है। इस कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश के वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत करेंगे।

राज्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं पर्यावरण विभाग के संयुक्त सदस्य सचिव कुनाल सत्यार्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्देश्य जैवविविधता इसके महत्व, योगदान, संरक्षण तथा सतत् उपयोग बारे जैविक हितधारकों को जानकारी प्रदान करना है। यह कार्यक्रम जिला चम्बा के जिला परिषद, पंचायत समिति सदस्यों और समस्त ग्राम पंचायत प्रधानों तथा जैवविविधता हितधारक विभागों जैसे वन, कृषि, बागवानी, मत्स्य, शिक्षा पशुपालन, आयुर्वेद तथा जिला प्रशासन के अधिकारियों को जैवविविधता से सम्बन्धित मुद्दों तथा जैवविविधता अधिनियम, 2002 एवं जैवविविविधता नियम, 2004 के कार्यान्वयन हेतु आयोजन किया जा रहा है।

इस प्रशिक्षण कार्यशाला में सात विकास खण्डों, चार वन मण्डलों के ग्राम पंचायत प्रधानों, अधिकारी एवं कर्मचारियों को जैवविविधता के महत्व व इसके योगदान बारे अवगत करवाया जायेगा। राजकीय उच्च विद्यालय काडेड द्वारा जैवविविधता पर एकांकी प्रस्तुत की जाएगी। इस एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में पर्यावरण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के निदेशक, अरण्यपाल चम्बा, जिलाधीश चम्बा, जिले के सभी वन मण्डल अधिकारी, संयुक्त सदस्य सचिव तथा वरिष्ठ वैज्ञानिक भाग ले रहे हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9  +  1  =