वीरभद्र सिंह ने की नारकंडा में पॉलीटेक्निक कॉलेज खोलने की घोषणा

  • कुमारसैन में खुलेगा एसडीएम कार्यालयः वीरभद्र सिंह
  • कुमारसैन में 50 बिस्तरों वाले अस्पताल भवन की आधारशिला
  • बड़ागांव के लिए लोक निर्माण विभाग का उपमण्डल

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज शिमला जिले के कुमारसैन में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए कुमारसैन में उपमण्डलीय अधिकारी (एसडीएम) कार्यालय, बस अड्डों के निर्माण तथा सामुदायिक भवन के निर्माण की घोषणा की।

उन्होंने बड़ागांव स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने, बड़गांव में लोक निर्माण विभाग का उपमण्डल खोलने तथा नारकंडा के समीप पॉलीटेक्निक कॉलेज खोलने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के मंदिरों के जीर्णोंद्धार के लिए पर्याप्त धनराशि उपलब्ध करवाने, कुमारसैन स्थित स्टेडियम का नाम राजा सुमेश्वर सिंह स्टेडियम करने की भी घोषणा की तथा कहा कि इन निर्माणों पर होने वाले खर्च का वहन राज्यसरकार करेगी। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर कुमारसैन में एक संयुक्त कार्यालय भवन का निर्माण भी किया जाएगा।

मुख्यमंत्री का कुमारसैन पहुँचने पर लोगों द्वारा गर्मजोशी से स्वागत किया गया और उनका नागरिक अभिनंदन भी किया गया। मुख्यमंत्री ने पूर्व में शिखर शैली दरबार हॉल और कुमारसैन किला, जो अग्नि की भेंट चढ़ गया था, पर अफसोस जताते हुए कहा कि यह कुमारसैन की शान थे, वे उन्हें याद करते हैं। उन्होंने लोगों से अपनी समृद्ध संस्कृति, रीति-रिवाजों व परम्पराओं को संरक्षण करने का आह्वान किया तथा कहा कि राज्य में मेले एवं त्यौहार को संजोए रखा गया है और सरकार वे मेलों और त्यौहारों का अस्तित्व को बनाए रखने के लिए अपना योगदान दे रही है। उन्होंने कहा कि सड़कें किसी भी प्रदेश व देश की जीवन रेखा होती है और प्रदेश में आज लगभग 34,500 कि.मी. मोटरयोग्य सड़कें हैं, जबकि प्रदेश के गठन के समय 1948 में राज्य में मात्र 288 कि.मी. लम्बी सड़कें थी। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा अनेक राष्ट्रीय उच्च मार्गों तथा फोरलेन सड़कों का निर्माण भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में 15534 पाठशालाएं कार्यरत हैं और प्रदेश सरकार बच्चों को गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि गत तीन वर्ष के कार्यकाल के दौरान राज्य के ग्रामीण व दूरदराज क्षेत्रों में 1004 नई पाठशालाएं खोली व स्तरोन्नत की गई हैं, इसके अलावा 29 नए डिग्री कॉलेज ग्रामीण क्षेत्रों में खोले गए है, जिससे प्रदेश में कॉलेजों की संख्या 114 हो गई है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में अनेक कॉलेजों के खोलने से विशेष रूप से लड़कियां लाभान्वित हुई हैं।

उन्होंने कहा कि शिमला जिले सराहन के निकट ज्यूरी में तथा कांगड़ा जिलों के नगरोटा बगवां में दो इंजीनियरिंग कॉलेज खोल गए हैं, जबकि सिरमौर जिला के धौलाकुआं में भारतीय प्रबन्धन संस्थान खोला जा रहा है। उन्होंने कहा कि गत तीन वर्षों के दौरान सरकारी क्षेत्र में 27 हजार लोगों को रोजगार प्रदान किया गया है। इसके अतिरिक्त जल वाहकों के मानदेय को 1700 रुपये से बढ़ार 1900 रुपये किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार आम लोगों के कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान कर रही है, इसी के मद्देनजर 80 वर्ष और इससे अधिक आयु के बुजुर्गों तथा 45 वर्ष से नीचे की विधवाओं की सामाजिक सुरक्षा पेंशन को बढ़ाकर 1200 रुपये प्रतिमाह बढ़ाया गया है। इसके अतिरिक्त, पंचायत चौकीदारों के मानदेय को 1850 रुपये से बढ़ाकर 2050 रुपये कर दिया गया है।

उच्च शिक्षा के लिए हिमाचली विद्यार्थियों को ऋण उपलब्ध करवाने के लिए मुख्यमंत्री ज्ञान दीप योजना आरम्भ की गई है, जिसके तहत बिना किसी आय सीमा के 10 लाख तक के ऋण पर चार प्रतिशत अनुदान प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने इस अवसर पर मेधावी बच्चों तथा तीन दिवसीय स्वास्थ्य शिविर को सफल बनाने वाले स्वयं सेवियों को पुरस्कार प्रदान किए।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने नारकण्डा के समीप ओडी में 2.71 करोड़ रुपये की लागत निर्माण कोल्ड स्टोर लोगों को समर्पित किया, जिसकी 700 मीट्रिक टन की क्षमता है। उन्होंने कुमारसैन में 50 बिस्तरों वाले अस्पताल भवन का भी शिलान्यास किया। उन्होंने कुमारसैन में 1.85 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले स्टेडियम का भी शिलान्यास किया, कुमारसैन, मतियाणा, कोटगढ़ और सैंज में 150 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले विभिन्न जल आपूर्ति योजनाओं का भी शिलान्यास किया, जिससे क्षेत्र की 123 वर्तमान योजनाओं में बेहतर पेयजल सुविधा उपलब्ध होगी और क्षेत्र की 46 पंचायतों की लगभग 91 हजार की जनसंख्या लाभान्वित होंगी। इसके लिए पानी को कुल्लू जिला के साथ लगती कुरपन खड्ड से उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जहां भी कोल्ड स्टोर की आवश्यकता होगी, वहां पर उनको प्राथमिकता के आधार पर खोला जाएगा। मुख्यमंत्री का शिमला से रामपुर जाते समय लोगों द्वारा नारकण्डा, ओडी और कुमारसैन में गर्मजोशी से स्वागत किया गया।

  • जल्द ही इन क्षेत्र के सभी घरों में पर्याप्त मात्रा में पेयजल सुविधा करवाई जाएगी उपलब्ध : स्टोक्स

सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री विद्या स्टोक्स ने इस अवसर पर जल आपूर्ति की मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया और कहा कि कुमारसैन, मतियाणा तथा ठियोग क्षेत्र में 150 करोड़ रुपये की पेयजल आपूर्ति योजना चलाई जा रही है ताकि इन क्षेत्रों के पानी की समस्या को पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में पानी की समस्या के समाधान के लिए कुरपन खड्ड से पानी को उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जल्द ही इन क्षेत्र के सभी घरों में पर्याप्त मात्रा में पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।

  •  कांग्रेस का वापिस सत्ता में आना निश्चित : विक्रमादित्य सिंह

राज्य युवा कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह ने समारोह में बोलते हुए कहा कि राज्य सरकार सभी क्षेत्रों का समग्र और समान विकास करने में विश्वास रखती है। उन्होंने कहा कि युवा किसी भी सरकार को बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले डेढ़ साल में लगभग 40 प्रतिशत मतदाता युवा होंगे और जिस तरह से प्रदेश सरकार द्वारा युवा कल्याण के लिए विकास योजनाएं चल रही हैं, कांग्रेस का वापिस सत्ता में आना निश्चित है। उन्होंने कहा कि नारकंडा के निकट एक नया पॉलिटेक्निक कॉलेज खोला जाएगा। उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे कौशल विकास योजना की विस्तृत जानकारी दी और कहा कि यह राज्य के युवाओं के लिए एक वरदान साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता में दोबारा आएगी और वीरभद्र सिंह सातवीं बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे।

हि. प्र. राज्य औद्योगिक विकास निगम के उपाध्यक्ष अतुल शर्मा ने मुख्यमंत्री का स्वागत व सम्मान किया। उन्होंने मुख्यमंत्री का आयोजन में भाग लेने के लिए आभार जताया। उन्होंने कुमारसैन में लगाए गए निशुल्क चिकित्सा शिविर के बारे में विस्तृत जानकारी दी, जिसमें हजारों की संख्या में लोगों का निःशुल्क उपचार किया गया। उन्होंने कहा कि यह शिविर हिमालयन वेल्फैयर फाउंडेशन की ठियोग और कुमारसैन इकाई द्वारा 26 जून से आरम्भ किया गया है। उन्होंने धर्म और क्षेत्र के आधार पर राजनीति करने वाले लोगों की निंदा करते हुए कहा कि हमें एक जुट होकर रहना चाहिए। उन्होंने कुमारसैन में बस अडडे का निर्माण, उप मंडल अधिकारी के लिए कार्यालय खोलने, सामुदायिक भवन, जो कि वर्तमान में जर्जर हालत को सुधार लाने का आग्रह किया। उन्होंने कुमारसैन में संयुक्त कार्यालय, कार पार्किंग, बड़ागांव स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को स्तरोन्नत कर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र करने का आग्रह किया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  −  7  =  3