कांग्रेस नेता पहले जानकारी जुटा लें कि इन्वेस्टर्स मीट के आयोजन से होगा हिमाचलवासियों को कितना फायदा, तब करें सरकार के प्रति टिप्पणी : सत्ती

कांग्रेसी नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर घटिया बयानबाजी के लिए मांगें माफी : सत्ती

शिमला: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने मण्डी रैली में कांग्रेसी नेताओं द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के खिलाफ अभद्र टिप्पणियों पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कांग्रेसी नेताओं से इस घटिया बयानबाजी के लिए माफी मांगने को कहा है। उन्होनें कहा कि कांग्रेस नेताओं की इस तरह अनर्गल बयानबाजी से प्रदेश की छवि खराब हुई है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पिछले दो वर्षों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्र्रदेश को उम्मीद से अधिक दिया है। इसक बदले में धन्यवाद के दो शब्दों के बजाए प्रधानमंत्री के खिलाफ भद्दे शब्दों के प्रयोग से कांग्रेस नेताओं ने केवल अहसान फरामोशी का परिचय दिया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि क्या देश के प्रधानमंत्री इसलिए कांग्रेस नेताओं की गाली के हकदार हैं कि उन्होनें प्रदेश को स्मार्ट सिटी दी ? क्या इसलिए उनके खिलाफ गंदे शब्दों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए कि प्रदेश कांग्रेस सरकार के निकम्मेपन के बावजूद प्रदेश को 23 नेशनल हाई वे व 2 औद्योगिक कॉरिडोर, एम्स, आई.आई.एम.एस., ड्रग फार्म हब, इंजीनियरिंग कॉलेज, 3 मैडिकल कॉलेजों के लिए 600 करोड़ रू. का प्रावधान किया ?

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस सरकार के गलत कृत्यों और भ्रष्टाचार से सरकार का ग्राफ दिन-प्रतिदिन गिर रहा है। कांग्रेस की अंतर्कलह किसी से छुपी नहीं है। रैली में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को बुलाए जाने के बावजूद उनका न आना और मुख्यमंत्री द्वारा अपने मंत्रियों के खिलाफ की जारी अभद्र टिप्पणियों से हुई छिछालेदारी से सब वाकिफ हैं। ऐसे में इन सब बातों से जनता का ध्यान बंटाने के लिए भाजपा के खिलाफ दुष्प्रचार व झूठी बयानबाजी तो समझ में आती है परन्तु माननीय प्रधानमंत्री जिन्होने हिमाचल प्रदेश के विकास के लिए सभी भेदभावों से उपर उठकर अतुल्य आर्थिक सहायता प्रदान कर रहे हैं, उनके खिलाफ अभद्र शब्दावली कतई सहन नहीं होगी और कांग्रेस नेताओं को भली भांति समझना होगा कि शीशे के घरों में रहने वाले दूसरों के घरो के उपर पत्थर नहीं मारा करते हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *