केन्द्र की मोदी सरकार का एकमात्र काम अपने राजनैतिक विरोधियों को तंग करना: मुख्यमंत्री

केन्द्र की मोदी सरकार का एकमात्र काम अपने राजनैतिक विरोधियों को तंग करना: मुख्यमंत्री

  • मण्डी के ऐतिहासिक सेरी मंच में हि.प्र. युवा कांग्रेस द्वारा पंचायती राज पदाधिकारी सशक्तिकरण सम्मेलन आयोजित
    मण्डी के ऐतिहासिक सेरी मंच में हि.प्र. युवा कांग्रेस द्वारा पंचायती राज पदाधिकारी सशक्तिकरण सम्मेलन आयोजित

मण्डी के ऐतिहासिक सेरी मंच में हि.प्र. युवा कांग्रेस द्वारा पंचायती राज पदाधिकारी सशक्तिकरण सम्मेलन आयोजित

मण्डी: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने केन्द्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वह सीबीआई, ईडी व आयकर जैसे विभागों की जांच एजेंसियों का दुरूपयोग कर राजनैतिक विरोधियों के खिलाफ काम करवा रही है। उन्होंने कहा है कि केन्द्र की मोदी सरकार का एकमात्र काम अपने राजनैतिक विरोधियों को तंग करने का रह गया है, जबकि देश की ज्वलंत समस्याओं की ओर उसका कोई भी ध्यान नहीं है।

मण्डी के ऐतिहासिक सेरी मंच में हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस द्वारा आयोजित पंचायती राज पदाधिकारी सशक्तिकरण सम्मेलन को सम्बोधित करते मुख्यमंत्री ने इस आयोजन के लिए युवा कांग्रेस की पीठ थपथपाई। उन्होंने कहा कि ऐसे सम्मेलनों से जन प्रतिनिधियों को सरकार की विकास योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी मिलती है। सम्मेलन में वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी, शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा, मुख्य संसदीय सचिव नन्द लाल, सोहन लाल ठाकुर, इन्द्र दत लखनपाल के अतिरिक्त मुख्यमंत्री के राजनैतिक सलाहकार रंगीला राम राव, कांग्रेस सेवा दल के मुख्य संगठक अनुराग शर्मा, विभिन्न बोर्डों एवं निगमों के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष, अनेक पूर्व मंत्री एवं विधायक एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 14वें वित्त आयोग में पंचायतों को तो उचित धन का प्रावधान है, लेकिन जिला परिषद व पंचायत समितियों को विकास कार्यो के लिए कोई प्रावधान नहीं रखा गया है। उन्होंने इस बारे प्रधानमंत्री से बात की है और उन्हें लगता है कि केन्द्र इस गलती को सुधार लेगें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर केन्द्र ऐसा नहीं करता तो हिमाचल प्रदेश सरकार अपने संसाधनों से जिला परिषदों और पंचायतों समितियों से विकास कार्यो के लिए धन का समुचित प्रावधान करने से भी पीछे नहीं हटेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के हितों की रक्षा के लिए वचनबद्ध है और उनकी समस्याओं को दूर करने का हर सम्भव प्रयास किया जाएगा। वीरभद्र सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार ने योजना आयोग की जगह नीति आयोग का गठन किया है चूंकि वह भी मुख्यमंत्री होने के नाते इस आयोग के सदस्य हैं, लेकिन उन्हें आज दिन तक नीति आयोग के किसी कार्य का पता ही नहीं चल रहा है।

मोदी सरकार के दो वर्ष के कार्यकाल पर तीखा प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि उनका विकास केवल प्रचार तक ही सीमित रहा है, जबकि धरातल पर कुछ नहीं है। चुनावों के समय किए गए किसी भी वायदे को मोदी सरकार आज दिन तक पूरा नहीं कर पाई। उन्होंने कहा कि देश में समस्याएं हैं और इन समस्याओं को एक दिन में दूर भी नहीं किया जा सकता पर केन्द्र सरकार अपनी जिम्मेदारी से मुख नहीं मोड़ सकती। उन्होंने कहा कि मोदी को जनता से किए गए वायदों को पूरा करना चाहिए।

स्वास्थ्य एवं राजस्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि वीरभद्र सिंह प्रदेश में एक मजबूत मुख्यमंत्री हैं, जो विकास के प्रति समर्पित हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा जब-जब सत्ता में आई तब-तब मण्डी के साथ भेदभाव किया गया। कांग्रेस के समय खोले गए अनेक कार्यालय यहां से उनके शासनकाल में तबदील किए गए। उन्होंने कहा कि 2017 के आम चुनावों में प्रदेश में फिर से कांग्रेस की सरकार बनेगी और वीरभद्र सिंह मुख्यमंत्री बनेंगे।

आबकारी एवं कराधान मंत्री प्रकाश चौधरी ने इस मौके पर बोलते हुए कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में एक मजबूत सरकार है, जो प्रदेश के विकास के प्रति वचनबद्ध है।

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री अनिल शर्मा ने इस अवसर पर कहा कि केन्द्र सरकार की कथनी और करनी में बहुत अन्तर है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने पंचायतों के अधिकारों को कम करने की जो कोशिश की है, उसे किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पंचायती राज सशक्तिकरण की पहले भी हितैषी रही है और आगे भी रहेगी। पंचायतों के विकास कार्य प्रभावित न हों, इसके लिए प्रदेश सरकार अपने स्तर पर अनेक कार्य कर रही है।

इस अवसर पर युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें खुशी है कि प्रदेश में पंचायतों व नगर निकाय चुनावों में अधिकतर कांग्रेस पार्टी से जुड़े लोगों की जीत हुई। यह जीत प्रदेश सरकार सरकार की उपलब्धियों एवं विकास कार्यो पर प्रदेश के लोगों की मोहर है।

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि वर्तमान सरकार ने वर्ष 2016-17 के बजट में पंचायतों एवं नगर निकायों के प्रधानों, उप-प्रधानों के मानदेय में भी वृद्धि कर उन्हें प्रोत्साहित किया है। इसके लिए युवा कांग्रेस मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करती है।

प्रदेश में शुरू की गई कौशल विकास भत्ता जैसी महत्वाकांक्षी योजना का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेरोजगार युवाओं के लिए कौशल विकास निगम के स्थापना करना अपने आप में एक ऐतिहासिक कदम है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत अक्षम युवाओं के लिए 1500 रूपये और अन्य युवाओं के लिए 1000 रूपये प्रतिमाह भत्ता दिया जा रहा है और अब तक प्रदेश में 1,62,615 युवा इस योजना के अन्तर्गत लाभान्वित हो चुके हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8  +  1  =