एसजेवीएन ने की रेड क्रॉस सोसाइटी को एम्‍बुलेंस भेंट, राज्यपाल ने की एसजेवीएन के सामाजिक दायित्वों की सराहना

एसजेवीएन ने की रेड क्रॉस सोसाइटी को एम्‍बुलेंस भेंट, राज्यपाल ने की एसजेवीएन के सामाजिक दायित्वों की सराहना

  • एसजेवीएनएल ने राज्य रेड क्रॉस सोसायटी को भेंट किया रोगी वाहन
  • निदेशक (कार्मिक) नंद लाल शर्मा ने एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतगर्त की जा रही विभिन्‍न गतिविधियों के बारे में राज्यपाल को करवाया अवगत
  • : वर्तमान में एसजेवीएन मोबाइल हेल्‍थ वेन स्‍कीम के तहत 12 वेन्‍स का कर रहा है संचालन
  • : एसजेवीएन द्वारा विभिन्‍न विशिष्‍ट स्‍वास्‍थ्‍य शिविरों का किया जा रहा आयोजन
  • : एसजेवीएन मस्‍कुलर डिस्‍ट्रोफी से पीड़ित व्‍यक्तियों के उत्‍थान के लिए सोलन में इंटीग्रेटेड मस्‍कुलर डिस्‍ट्रोफी इंस्‍टीट्यूट के निर्माण के लिए  इण्डियन एसोसिएशन ऑफ मस्‍कुलर डिस्‍ट्रोफी को कर रहा है सहयोग
  • : एन.एल. शर्मा ने की  राज्यपाल से एसजेवीएन द्वारा प्रदेश के युवाओं के लिए चलाए जा रहे नशा निवारण अभियान के बारे में विस्‍तार से चर्चा
  • : राज्यपाल ने की सतलुज जल विद्युत निगम के सामाजिक दायित्वों की सराहना

शिमला: हिमाचल प्रदेश सतलुज जल विद्युत निगम {एसजेवीएन) के निदेशक (कार्मिक) एन.एल. शर्मा ने राज्य रेड क्रॉस सोसायटी

 एसजेवीएन की ओर से इस अवसर पर डी.पी.कौशल, अपर महाप्रबंधक (सीएसआर), बिजय प्रसाद, अपर महाप्रबंधक (मानव संसाधन) तथा अवधेश प्रसाद, वरिष्‍ठ प्रबंधक (सीएसआर) भी मुख्य रूप से रहे उपस्थित

एसजेवीएन की ओर से इस अवसर पर डी.पी.कौशल, अपर महाप्रबंधक (सीएसआर), बिजय प्रसाद, अपर महाप्रबंधक (मानव संसाधन) तथा अवधेश प्रसाद, वरिष्‍ठ प्रबंधक (सीएसआर) भी मुख्य रूप से रहे उपस्थित

को दान की गई रोगी वाहन की चाबी राज्यपाल को सौंपी। राज्यपाल ने कहा कि इस रोगी वाहन से रोगियों को आपातकाल में सहायता उपलब्ध होगी।

एसजेवीएन द्वारा आज राजभवन शिमला में विश्‍व रेडक्रॉस दिवस के उपलक्ष्‍य पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान हि. प्र. राज्‍य रेड क्रॉस सोसाइटी को एक एम्‍बुलेंस भेंट की गई। यह एम्‍बुलेंस राज्‍यपाल हिमाचल प्रदेश आचार्य देवव्रत जो कि हि. प्र. राज्‍य रेड क्रॉस सोसाइटी के अध्‍यक्ष भी है द्वारा प्राप्‍त की गई। एम्‍बुलेंस की चाबियां एसजेवीएन के निदेशक (कार्मिक), नंद लाल शर्मा तथा एसजेवीएन के स्‍वतंत्र निेदेशक, गणेश दत्‍त द्वारा राज्यपाल को भेंट की गई। इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव, पुष्‍पेंद्र राजपूत जो कि हि. प्र. राज्‍य रेड क्रॉस सोसाइटी के महासचिव भी है तथा पी.एस राणा सोसाइटी के सचिव उपस्थित थे। एसजेवीएन की ओर से इस अवसर पर डी.पी.कौशल, अपर महाप्रबंधक (सीएसआर), बिजय प्रसाद, अपर महाप्रबंधक (मानव संसाधन) तथा अवधेश प्रसाद, वरिष्‍ठ प्रबंधक (सीएसआर) भी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

राज्यपाल ने की सतलुज जल विद्युत निगम के सामाजिक दायित्वों  सराहना की और विश्वास जताया कि एसजेवीएन ने राज्य रेड क्रॉस सोसायटी को रोगी वाहन भेंट करने की  जो पहल की है उससे अन्य संस्थान भी अपने सामाजिक उत्तरदायित्व के प्रति प्रेरित होंगे और राज्य रेड क्रॉस सोसायटी को उदारता से अंशदान करने के लिए आगे आएंगे, जो निःस्वार्थ भाव से समाज के कमज़ोर व ज़रूरतमंद लोगों की सेवा में हमेशा ही तत्पर हैं। एन.एल. शर्मा ने राज्यपाल को बताया कि निगम द्वारा अपने सामाजिक उत्तरदायित्व व गतिविधियों के विस्तार के उद्देश्य से यह अंशदान किया गया है।

  • निदेशक (कार्मिक) एसजेवीएन नंद लाल शर्मा ने एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतगर्त की जा रही विभिन्‍न गतिविधियों के बारे में राज्यपाल को करवाया गया अवगत
एसजेवीएन निदेशक (कार्मिक) नंद लाल शर्मा

एसजेवीएन निदेशक (कार्मिक) नंद लाल शर्मा

राज्यपाल को चाबियां भेंट करते हुए निदेशक (कार्मिक) एसजेवीएन नंद लाल शर्मा, एवं अध्‍यक्ष एसजेवीएन फाउंडेशन ने एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतगर्त की जा रही विभिन्‍न गतिविधियों के बारे में राज्यपाल को अवगत करवाया गया। उन्‍होंने बताया कि वर्तमान में एसजेवीएन मोबाइल हेल्‍थ वेन स्‍कीम के तहत 12 वेन्‍स का संचालन कर रहा है। इसके अतिरिक्‍त एसजेवीएन द्वारा विभिन्‍न विशिष्‍ट स्‍वास्‍थ्‍य शिविरों को आयोजन भी किया जा रहा है। उन्‍होंने राज्यपाल को सूचित किया कि एसजेवीएन मस्‍कुलर डिस्‍ट्रोफी से पीडित व्‍यक्तियों के उत्‍थान के लिए सोलन में इंटीग्रेटेड मस्‍कुलर डिस्‍ट्रोफी इंस्‍टीट्यूट के निर्माण के लिए   इण्डियन एसोसिएशन ऑफ मस्‍कुलर डिस्‍ट्रोफी को सहयोग प्रदान कर रहा है। शर्मा ने राज्यपाल से एसजेवीएन द्वारा प्रदेश के युवाओं के लिए चलाए जा रहे नशा निवारण अभियान के बारे में विस्‍तार से चर्चा की। राज्यपाल ने एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतर्गत की जा रही विभिन्‍न कल्‍याणकारी गतिविधियों की प्रसंशा की।

  • एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतर्गत किए जा रहे प्रयासों को मुख्‍यत: छ: श्रेणियों में किया गया है वर्गीकृत
  • एसजेवीएन द्वारा किए जाने वाले ये प्रयास एसजेवीएन की उर्जा व स्रोतों को राष्‍ट्रीय महत्‍व के इन मुद्दों की पूर्ति हेतु कर रहे हैं चेनलाइज
  • एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के क्षेत्र में किए गए अग्रणी कार्य उसके दीर्घगामी स्‍थायित्‍व को हैं दर्शाते
एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतर्गत किए जा रहे प्रयासों को मुख्‍यत: छ: श्रेणियों में किया गया है वर्गीकृत

एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतर्गत किए जा रहे प्रयासों को मुख्‍यत: छ: श्रेणियों में किया गया है वर्गीकृत

एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों को सामाजिक पर्यावरणीय तथा आर्थिक आवश्‍यकताओं के अनुरूप सृजित किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं।एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के अंतर्गत किए जा रहे प्रयासों को मुख्‍यत: छ: श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है जो कि शिक्षा एवं कौशल विकास, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर तथा सामुदायिक परिसंपत्ति विकास, स्‍वास्‍थ्‍य रक्षा तथा कल्‍याण, स्‍थानीय संस्‍कृति को बढ़ावा तथा उनका संरक्षण, खेल, स्‍थायी विकास, प्राकृतिक आपदा के समय सहायता इत्‍यादि है। एसजेवीएन द्वारा किए जाने वाले ये प्रयास एसजेवीएन की उर्जा तथ स्रोतों को राष्‍ट्रीय महत्‍व के इन मुद्दों की पूर्ति हेतु चेनलाइज कर रहे हैं ।

एसजेवीएन द्वारा सीएसआर के क्षेत्र में किए गए अग्रणी कार्य उसके दीर्घगामी स्‍थायित्‍व को दर्शाते हैं तथा एसजेवीएन की क्रमिक प्रतिबद्धता को प्रतिबिम्बित करते हैं। सीएसआर कार्यक्रमों का क्रियान्‍वयन इस प्रकार किया जा रहा है ताकि विधिपरकता, नैतिक मानकों तथा अंतर्राष्‍ट्रीय मानदंडों के साथ उसके सक्रिय अनुपालन सुनिश्चित किया जा सके।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *