मुख्यमंत्री ने आनी में की दर्जनों घोषणाएं

आनी उप तहसील को तहसील का दर्जा, आनी में बस डिपो व निरमंड में कॉलेज खोलने की घोषणा शामिल

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज कुल्लू जिला के आनी में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने विद्यार्थियों को बेहतर अधोसरचना व सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए 30 करोड़ रुपये की लागत की मुख्यमंत्री आदर्श विद्यालय योजना’ आरम्भ की है, जिसके तहत प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र की दो वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं को लाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि गत तीन वर्षों के दौरान प्रदेश में 1000 से अधिक स्कूल खोले या स्तरोन्नत किए गए हैं। इसके अतिरिक्त 24 आईटीआई और दो इंजीनियरिंग कॉलेज खोले गए। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने इसी दौरान प्रदेश के दूरदराज व ग्रामीण क्षेत्रों में 29 महाविद्यालय खोले, जिससे अब सरकारी क्षेत्र में महाविद्यालयों की संख्या बढ़कर 94 हो गई हैं उन्होंने कहा कि यदि आवश्यक हुआ तो दूरदराज क्षेत्रों में और शिक्षण संस्थान खोले के लिए तैयार जाएंगे। ।

उन्होंने कहा कि विपक्ष उनकी स्कूलों को खोलने व स्तरोन्नत करने के लिए आलोचना कर रहा है और उन्होंने भाजपा नेताओं से उन स्कूलों की सूची की भी मांगी हैं, जिन्हें वे बंद करवाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह यह समझ नहीं पा रहे कि जब भी वह स्कूल व महाविद्यालय खोलने की घोषणा करते हैं, तो भाजपा क्यों उसका विरोध करती है। मुख्यमंत्री आज से आनी विधानसभा क्षेत्र के बाह्य सिराज क्षेत्र के दो दिवसीय दौरे पर हैं।

उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि हम विकास कार्यों का प्रचार नहीं करते और इसे जन सेवा मानते हैं, जबकि भाजपा की सोच इसके विपरीत है, जो प्राथमिक पाठशाला खोलने पर भी अनावश्यक शोर मचाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गत तीन वर्षों में आनी विधानसभा क्षेत्र में 18 करोड़ रुपये की लागत से 88 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया। इसके अतिरिक्त 8.70 करोड़ रुपये की लागत से दो पुलों व दो करोड़ रुपये की लागत से 9 नए भवनों को निर्माण किया गया। उन्होंने कहा कि 35 किलोमीटर सड़क के लिए 17 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गई है, जिसका कार्य शीघ्र आरम्भ कर दिया जाएगा और आनी विधानसभा क्षेत्र 35 करोड़ रुपये की लागत से 71 किलोमीटर सड़क के निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार किया गया है।

उन्होंने कहा कि अब आनी विधानसभा क्षेत्र की केवल दो पंचायतें ही सड़क सुविधा से वंचित हैं और सरकार इन पंचायतों को निकट भविष्य में सड़क सुविधा से जोड़ने के लिए हर संभव प्रयास करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा गत तीन वर्षों के दौरान प्रदेश घरेलू उपभोक्ताओं को बिजली पर उपदान देने पर 1080 करोड़ रुपये व्यय किए गए। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश की बस्तियांें में बिजली सुविधा उपलब्ध करवाई जा चुकी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत एक धर्म निरपेक्ष देश है और कांग्रेस सभी धर्मों व क्षेत्रों के लोगों को साथ लेकर चलने में विश्वास करती है और जाति, धर्म व क्षेत्र के आधार पर बांटने का हमेशा ही विरोध करती रही है। उन्होंने कहा कि लोक सभा चुनाव के दौरान लोग मोदी लहर के बहकावे में आ गए थे और उस चुनाव के दौरान भाजपा ने दावा किया था कि प्रत्येक नागरिक के खाते में 15 लाख रुपये की राशि जमा की जाएगी, परन्तु लोगों को कुछ नहीं मिला। मुख्यमंत्री ने कहा कि नेताओं को वहीं वायदे करने चाहिए, जिन्हें वे पूरा कर सकें। उन्होंने कहा कि वह सिर्फ वहीं वायदे करते हैं, जिन्हें वह पूर्ण कर सकें। मुख्यमंत्री ने आनी के हरिपुर में राजकी महाविद्यालय में लड़कियों के छात्रावास के निर्माण की घोषणा की, जिसमें 300 छात्राओं के रहने की सुविधा होगी। मुख्यमंत्री ने ग्राम पंचायत तलूना में बाड़ी को लथान से जोड़ने के लिए पुल के निर्माण की घोषणा की। उन्होंने शवाड़ और लूहरी में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने राजकीय माध्यमिक पाठशाला निमला और नगान को स्तरोन्नत कर उच्च पाठशाला करने की भी घोषणा की। उन्होंने बंजार विधानसभा क्षेत्र के राजकीय माध्यमिक पाठशाला भलान को उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने की भी घोषणा की। उन्होंने डोगरी मोड (गुज्जर बस्ती) में नई प्राथमिक पाठशाला खोलने व नगान में पशु औषधालय खोलने की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने आनी में बस डिपो और अग्निशमन केन्द्र खोलने की भी घोषणा की। उन्होंने आनी सब तहसील को स्तरोन्नत कर तहसील का दर्जा देने और निरमंड में राजकीय महाविद्यालय खोलने की भी घोषणा की। उन्होंने आनी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को 50 बिस्तरों वाले नागरिक अस्पताल में स्तरोन्नत करने की भी घोषणा की। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने हरिपुर-नगान में 16 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित किए गए 66 किलोवाट के विद्युत उप केन्द्र का लोकार्पण किया। इससे क्षेत्र की 43 पंचायतों, जिनमें कुल्लू जिला की 32 पंचायतें तथा मण्डी जिला के करसोग उपमण्डल की 11 पंचायतें लाभान्वित होंगी। इससे क्षेत्र के 926 गांवों की 1.05 लाख जनसंख्या भी लाभान्वित होंगी। इसके अतिरिक्त क्षेत्र की कम वोल्टेज की समस्या भी समाप्त होगी और विद्युत वितरण में होने वाले नुकसान में भी कमी आएगी। उन्होंने हरिपुर-नगान के लिए 51 लाख रुपये की लागत से निर्मित उठाऊ पेयजल योजना का भी उद्घाटन किया।

आयुर्वेद एवं सहकारिता मंत्री कर्ण सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह देश के एकमात्र एक नेता हैं, जो आम लोगों के लिए हमेशा सुगमता से उपलब्ध रहते हैं। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही आनी में एक आयुर्वेदिक चिकित्सक की तैनाती की जाएगी। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला लूहरी में सभागार के निर्माण के लिए तीन लाख रुपये प्रदान करने की घोषणा की।

आनी के विधायक खूब राम ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। उन्होंने मुख्यमंत्री का क्षेत्र के लिए विभिन्न घोषणाएं करने के लिए आभार व्यक्त किया और क्षेत्र में हुए विकास कार्यों की जानकारी दी। विधायक ने इस अवसर पर क्षेत्र की विभिन्न मांगों, जिनमें आनी में बस डिपो खोलना और आनी उप तहसील को तहसील में स्तरोन्नत करना शामिल है। श्री खूब राम ने भाजपा पर वर्तमान सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों का श्रेय लेने का भी आरोप लगाया। इस अवसर पर एपीएमसी कुल्लू के अध्यक्ष श्री उपेन्द्र कांत मिश्रा ने भी जनसभा को सम्बोधित किया और निरमंड में महाविद्यालय खोलने की मांग की। उन्होंने मुख्यमंत्री का बाह्य सिराज क्षेत्र में एक ही दिन में करोड़ों रुपये की परियोजनाओं का लोर्कापण करने के लिए आभार व्यक्त किया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

64  +    =  69