सी.यू. के लिए 740.79 करोड़ रुपए मंज़ूर : अनुराग ठाकुर

केंद्रीय कोष का सही उपयोग करने में नाकाम वीरभद्र सरकार: अनुराग सिंह ठाकुर

शिमला: ”राज्यों के विकास तथा देशवासियों के जीवन स्तर में मजबूती लाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न योजनाऐं निर्मित की गई है, जिनके तहत राज्य सरकारों को आर्थिक व वाणिज्यिक सहायता प्रदान की जाती है। पंरतु हिमाचल सरकार केंद्रीय फंड का सही उपभोग करने में नाकाम साबित हुई है तथा केंद्र की ओर से दी जानी वाली सहायता राज्य पर काबिज़ कांग्रेस सरकार के कुशासन की वजह से जरूरतमंदों तक नहीं पहुंच पा रही है”, यह शब्द कहते हुए हमीरपुर सांसद तथा भाजयुमो अध्यक्ष अनुराग सिंह ठाकुर राज्य सरकार पर जमकर बरसे।

सूबे में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान अनुराग सिंह ठाकुर ने राज्य सरकार की कार्यशैली पर अंसतोष जाहिर करते हुए कहा की, आम जनता को जानकारी होनी चाहिए कि आखिर क्यों वीरभद्र सरकार केंद्रीय कोष का उपयोग करने में विफल रही है। कैग की रिपोर्ट के अनुसार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की चिरकालिक कमी होने के बावजूद हिमाचल राज्य शिक्षा विभाग 130 करोड़ रुपयों का उपयोग करने में नाकामयाब रहा है, जोकि वर्ष 2014-15 के राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान बजट का 37 प्रतिशत था। वीरभद्र सरकार को अपनी जवाबदेही समझनी होगी तथा इसके कारणों को बताना पडे़गा।

राज्य सरकार के कार्यों तथा नीतियों पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा कि वीरभद्र जी को जवाब देना होगा कि क्यों राज्य के विद्यालय, अस्पताल व सड़को की हालत जर्जर होती जा रही है ? आखिर किन कारणों के चलते सरकारी कार्यालय मानव संसाधनों की कमी से जूझ रहे हैं ? और पिछले 30 माह के समय में राज्य के विकास की राह में कांग्रेस सरकार ने वीरभद्र जी की अगुवाई में अब तक क्या कदम उठाएं है ? मेरे अनुसार तो राज्य सरकार हिमाचल के लोगों को गहरे कूप की ओर ही ले रही है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3  +  4  =