ताज़ा समाचार

‘विकास की नई उड़ान चित्रकला प्रदर्शनी’ में आज आर्य समाज स्कूल ने लिया “प्रश्नोत्तरी” कार्यक्रम में भाग

‘विकास की नई उड़ान चित्रकला प्रदर्शनी’ में आज आर्य समाज स्कूल ने लिया “प्रश्नोत्तरी” कार्यक्रम में भाग

  • पहली अप्रैल को स्थानीय स्कूली बच्चों के लिए होगी पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित : रितेश कपूर
  • पेंटिंग प्रतियोगिता का विषय बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ
  • समापन समारोह के दिन पेंटिंग में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले बच्चों को किया जाएगा सम्मानित
‘विकास की नई उड़ान चित्रकला प्रदर्शनी’ में आज आर्य समाज स्कूल ने लिया “प्रश्नोत्तरी” कार्यक्रम में भाग

‘विकास की नई उड़ान चित्रकला प्रदर्शनी’ में आज आर्य समाज स्कूल ने लिया “प्रश्नोत्तरी” कार्यक्रम में भाग

शिमला : सात दिवसीय विकास की नई उड़ान चित्रकला प्रदर्शनी के चौथे दिन क्षेत्रीय प्रचार इकाई शिमला द्वारा आज आर्य समाज स्कूल शिमला के बच्चों ने प्रश्रोत्तरी कार्यक्रम में भाग लिया। प्रश्रोत्तरी कार्यक्रम में करीब 50 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया। प्रश्रोत्तरी कार्यक्रम में बच्चों से चित्रकला से संबंधित योजनाओं के बारे में प्रश्न पूछे गए। छात्राओं ने प्रदर्शनी से सम्बंधित प्रतियोगिता में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। प्रश्रोत्तरी कार्यक्रम के दौरान बच्चों में काफी उत्साह देखा गया, वहीं बच्चों और अध्यापिकाओं ने चित्र प्रदर्शनी की सराहना भी की। बच्चों व अध्यापिकाओं ने चित्रकला प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।

  • स्कूल से आईं अध्यापिकाबेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” पर हुईं भावुक

आर्य समाज स्कूल के बच्चों और अध्यापिकाओं ने चित्र प्रदर्शनी की जहाँ जमकर सराहना की वहीं कार्यक्रम के दौरान

    स्कूल से आईं अध्यापिका “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” पर हुईं भावुक

स्कूल से आईं अध्यापिका “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” पर हुईं भावुक

“बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” के विषय पर स्कूल अध्यापिका काफी भावुक हुई। उन्होंने कहा बेटी अनमोल है और भारत सरकार द्वारा बेटियों को लेकर गंभीरता साफ नजर आती है, लेकिन आवश्यकता है देश के प्रत्येक व्यक्ति बेटी के होने पर फक्र महसूस करे और बेटी को बेहतरीन शिक्षा दे। साथ ही भारत सरकार द्वारा बेटियों के लिए चलाईं जा रही योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उठाएं और समझे कि बेटियां बोझ नहीं हैं बल्कि अनमोल हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें इस कार्यक्रम में आकर आज खुद की बेटी न होने पर बहुत दुःख हो रहा है, लेकिन उन्हें इस बात की ख़ुशी है कि वो जिस स्कूल में पढ़ा रहीं हैं वहां उन्हें सब बेटियां मिली हैं।

  •  पेंटिंग प्रतियोगिता “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” पर आधारित
कल  पेंटिंग प्रतियोगिता "बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ" पर आधारित

कल पेंटिंग प्रतियोगिता “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” पर आधारित

इस अवसर पर क्षेत्रीय प्रदर्शनी अधिकारी रितेश कपूर ने बताया कि इसी कार्यक्रम के तहत पहली अप्रैल को स्थानीय स्कूली बच्चों के लिए पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। यह पेंटिंग प्रतियोगिता “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” पर आधारित होगी। पेंटिंग प्रतियोगिता में सनातन धर्म स्कूल गंज बाजार, आर्य समाज स्कूल, पोर्टमोर स्कूल और लक्कड़ बाजार स्कूल के बच्चे भाग लेंगे।

उन्होंने बताया कि पेंटिंग प्रतियोगिता में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले बच्चों को समापन समारोह के दिन शिमला के विधायक सुरेश भारद्वाज द्वारा सम्मानित किया जाएगा। इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन अन्य स्कूली बच्चों के लिये प्रदर्शनी के दौरान प्रतिदिन किया जा रहा है। प्रदर्शनी के दौरान दूरदर्शन शिमला के कलाकारों द्वारा भी गीत-संगीत के माध्यम से केंद्र सरकार की योजनाओं की जानकारी दी जा रही है।

उन्होंने बताया कि लोगों को जागरूक करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। ताकि लोग अपने अधिकारों को जान सके और इनका लाभ उठा सकें। इसी के तहत विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा लोगों को जागरूक करने के लिए कई प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन देश के हर राज्य में किया जाता है। इसके अतिरिक्त बच्चों सहित स्थानीय लोग और पर्यटक भारी तादात में प्रदर्शनी का अवलोकन करने पहुंच रहे हैं। शिमला के ग्रैंड होटल में विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय की ओर से सात दिवसीय ‘विकास की नई उड़ान चित्रकला प्रदर्शनी’ 28 मार्च से शुरू हो चुकी है जो कि तीन अप्रैल तक चलेगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *