टूरिज़्म

पैगोड़ा और शिखरनुमा शैली में बना "माँ हाटकोटी मंदिर"

अपार शांति व अद्भूत शक्ति की अनुभूति होती है “माँ हाटकोटी” के दरबार में

हिमाचल के विख्‍यात मन्दिरों में से एक “माँ हाटकोटी” मंदिर का शीर्ष भाग पत्थर की स्लेट की ढलानदार छत से आच्छादित हाटकोटी को अर्जित है ‘पत्थर के मंदिरों की घाटी’ का खिताब हिमाचल जिसे...

maa-naina-devi

धार्मिक पर्यटन व आस्था का केंद्र “श्री नैना देवी जी”

हिमाचल प्रदेश जिसे देव भूमि कहा जाता है यहां बहुत से देवी-देवताओं का वास है। यहां की खास बात यह है कि यहां बहुत से देवी-देवताओं के कई पूजनीय तीर्थ स्थल हैं जहां दूर-दूर से भारी तादात में कई...

door-of-dev-pashakot-temple

चौहार घाटी का प्रसिद्ध देव पशाकोट

देव पशाकोट मंदिर – यह मंदिर टिक्कन पुल के समीप लगभग 1 किलोमीटर दूर स्थित है। देव पशाकोट चौहार घाटी के प्रमुख देवता हैं। लोग यहां पूजा करने, मन्नत मांगने, स्थानीय समस्याओं के परामर्श एवं...

"किन्नौर" किन्नर कैलाश की विशेष महत्ता के साथ संस्कृति, धर्म-परम्परा, रीति-रिवाज व पर्यटन के लिए भी विख्यात

“किन्नौर” किन्नर कैलाश की विशेष महत्ता के साथ संस्कृति, धर्म-परम्परा, रीति-रिवाज व पर्यटन के लिए भी विख्यात

मान्यता : किन्नर कैलाश केवल भगवान शिव का ही निवास स्थान नहीं, बल्कि यहां पर स्वर्ग का राज है “किन्नौर”  शिव की धरती से जहां विख्यात है वहीं किन्नौर अपनी संस्कृति, धर्म-परम्परा, रीति-रिवाजों,...

kasauli himachal pradesh

कसौली – औपनिवेशिक आकर्षण का एक हिल स्टेशन

कसौली हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में स्थित एक लोकप्रिय हिल स्टेशन है। समुद्र सतह से लगभग 1800 मीटर की ऊँचाई पर स्थित इस स्थान का वर्णन भारतीय महाकाव्य रामायण में किया गया है। पौराणिक कथाओं के...

धर्मशाला में होगा बॉलीवुड के सितारों व सांसदों के बीच क्रिकेट मैच

धर्म-आस्था व कला का बेजोड़ संगम : कांगड़ा

कांगड़ा प्रकृति और संस्कृति की अद्भुत विविधता    हिमाचल प्रदेश के सुंदर-सुंदर जिले और उनकी खूबसूरती। प्रकृति के अदभूत नज़ारे, ऐतिहासिक धरोहरें, धर्म, आस्था, लोक संस्कृति, रीति-रिवाज़ तथा...

वशिष्ठ- पुरानी कुल्लुई काठकुणी शैली के हैं सभी मकान

हिमाचल की पौराणिक स्मृतियों को संजोए महर्षि वशिष्ठ का तपस्या स्थल “वशिष्ठ”

हिमाचल प्रदेश के मनाली से करीब चार किलोमीटर दूर लेह राजमार्ग पर स्थित है वशिष्ठ। एक ऐसा गांव जो अपने दामन में पौराणिक स्मृतियां छुपाये हुए है। महर्षि वशिष्ठ ने इसी स्थान पर बैठकर तपस्या की...