विशेष हस्ती

बुजुर्ग दम्पति

उम्र रूकती नहीं, वक्त ठहरता नहीं…..

बुजुर्गों का करें सम्मान   छोटा सा बचपन कब यौवन से बुढ़ापे में चला जाता है पता नहीं चलता। कब एक नन्हा पौधा, पेड़ से सूखी लकड़ी बन जाता है पता नहीं चलता। कब एक जीवन कई परिस्थितियों से होकर बीत...

हिमशिमला लाइव की प्रधान संपादक सरिता चौहान से पहाड़ी लोक गायिका शांति बिष्ट की खास बातचीत

लाड़ा भूखा आया मैं खिचड़ी पकावां…पहाड़ी लोक गायिका शांति बिष्ट से खास मुलाकात

  इस ग्रांई देया लंबरा हो इन्हां छोरूआं जो लेयां समझाई……से शांति जी को मिली खास पहचान ऐसा अक्सर कहा जाता है कि भगवान हर इंसान में कोई न कोई खूबी ज़रूर बख्शता है लेकिन यह तो उस इंसान पर...