शिक्षा व स्वास्थ्य (Page 2)

जलने पर फौरन करें उपचार.......

जलने पर फौरन करें उपचार…….

    कभी लापरवाही तो कभी अनजाने में शरीर का कोई हिस्‍सा जल जाता है। जलने पर तुरंत अस्‍पताल नहीं जाया जा सकता। अगर जले हुए हिस्‍से तुरंत उपचार नहीं किया जाए तो वह आगे चलकर काफी नुकसान भी...

गले, नाक व कान में होने वाली बीमारियों की समस्या को हल्के न लें : डा. रविंद्र मिन्हास

गले, नाक व कान में होने वाली बीमारियों को हल्के में न लें : डा. रविंद्र मिन्हास

कान, नाक और गला ये सिर से जुड़े हुए तीन मुख्य अंग है। जिनका आपस में भीतरी तौर पर भी संबंध है। तीनों के रोग एवं उपचार के लिए एक ही चिकित्सक होता है। हालांकि इनसे जुड़ी समस्या आम समझी जाती है,...

गर्भावस्था की पहली अवस्था से गर्भवती महिला बताएं गाईनिकॉलोजिस्ट डॉक्टर के पास जाकर अपनी पूरी स्थिति : डॉ. सुभाष

गर्भावस्था की पहली अवस्था से गर्भवती महिला बताएं गाईनिकॉलोजिस्ट डॉक्टर के पास जाकर अपनी पूरी स्थिति : डॉ. सुभाष

ये बात सच है एक औरत अपने को तभी पूर्ण मानती है जब वह अपनी कोख से बच्चे को जन्म देकर मां बनती है। शिशु को जन्म देने के लिए उसे नौ महीने का लम्बा सफर तय करना पड़ता है। गर्भावस्था का समय न सिर्फ एक...

गुरु समान दाता नहीं, महिमा अगर अपार...जहाँ पर गुरु कृपा करे, होय निश्चय उद्धार

गुरु समान दाता नहीं, महिमा अगर अपार…जहाँ पर गुरु कृपा करे, होय निश्चय उद्धार

हर साल ‘शिक्षक दिवस’ विश्व भर में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। क्योंकि गुरु शिष्य का रिश्ता अटूट है। ‘शिक्षक दिवस’ प्रत्येक वर्ष 5 सितम्बर को मनाया जाता है। शिक्षक दिवस अपने गुरुओं के...

स्क्रब टाईफस के प्रति रहें सचेत, जिला शिमला में अभी तक 16 स्क्रब टाईफस के मामले

स्क्रब टाईफस के प्रति रहें सचेत, जिला शिमला में अभी तक 16 स्क्रब टाईफस के मामले

अंबिका/शिमला:आम तौर पर बरसात के मौसम में तेज बुखार से पीड़ित रोगियों की संख्या बढ़ जाती है। यह बुखार स्क्रब टाईफस से भी हो सकता है। इसलिए स्वास्थ्य के प्रति सचेत और सजग रहना आवश्यक होता है। यह...

भारत को 15 अगस्त, 1947 की रात 12 बजे ही क्यों मिली स्वतंत्रता.....

भारत को 15 अगस्त, 1947 की रात 12 बजे ही क्यों मिली स्वतंत्रता…..

हर साल 15 अगस्त के दिन हम स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं, लेकिन कभी सोचा है कि इस दिन में क्या खास बात थी, जो हमें 15 अगस्त, 1947 को रात 12 बजे ही स्वतंत्रता मिली? आज हम इस सवाल का जवाब ढूंढने की कोशिश करते...

राष्ट्रीय पर्व “‘स्वतंत्रता दिवस”....

“स्वतंत्रता दिवस”….जब अंग्रेजों के कदम लड़खड़ा गए

15 अगस्त हर भारतीय के लिए बहुत मायने रखता है। हर साल इस राष्ट्रीय पर्व को हम हर्षोल्लास से मनाते हैं। इससे जुड़े इतिहास से भारत में शायद ही कोई अनजान होगा। हर कोई जानता होगा कि कैसे हमें आजादी...