शिक्षा व स्वास्थ्य

नौणी विवि के दो छात्रों ने अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में जीते पुरस्कार

नौणी विवि के दो छात्रों ने अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में जीते पुरस्कार

सोलन: डॉ. वाईएस परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी के जैव प्रौद्योगिकी विभाग के दो शोधकर्ताओं ने हाल ही में गुवाहाटी में आयोजित दो अलग-अलग अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में पुरस्कार...

डॉ मछान

स्वाइन फ्लू से बचाव और सावधानी: डॉ. प्रेम मच्छान

 प्रदेश में आए दिन स्वाइन फ्लू के मामले देखने को मिल रहे हैं। स्वाइन फ्लू के लक्षण आमतौर पर सामान्य फ्लू जैसे ही होते हैं। लेकिन इन लक्षणों में मौजूद जरा से फर्क को आप पहचान पायें, तो आप...

सभी वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में होंगे उप प्रधानाचार्य के पद सृजित: मुख्यमंत्री

सभी वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में होंगे उप प्रधानाचार्य के पद सृजित: मुख्यमंत्री

कुटलेहड़ क्षेत्र में खोला जाएगा अटल आदर्श आवासीय विद्यालय प्रदेश के सरकारी स्कूलों में तैनात पीजीटी के नामावली प्रवक्ता (लैक्चरर) के रूप में बदली जाएगी और इस संदर्भ में अधिसूचना शीघ्र ही...

सभी लोगों के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने वाला हिमाचल बना पहला राज्य : स्वास्थ्य मंत्री

सभी लोगों के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने वाला पहला राज्य बना हिमाचल : स्वास्थ्य मंत्री

अब सभंव होगी हिमाचल प्रदेश में यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज हिमकेयर योजना में पंजीकरण हेतु बहुत ही सरल प्रक्रिया का प्रावधान शिमला : हिमाचल प्रदेश में यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज अब सभंव होगी। प्रदेश...

राज्य की सभी पीएचसी व एचएससी को 2022 तक वैलनेस केंद्र बनाने का लक्ष्य : परमार

राज्य की सभी पीएचसी व एचएससी को 2022 तक वैलनेस केंद्र बनाने का लक्ष्य : परमार

आयुष्मान भारत योजना के दायरे में राज्य की 21 लाख की आबादी इस योजना से वंचित लोगों के लिए राज्य में ‘हिम केयर’ योजना शुरू शिमला : हिमाचल प्रदेश के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों और स्वास्थ्य...

प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड 10वीं का परीक्षा परिणाम घोषित, 67.9 फीसदी रहा रिजल्ट

शिक्षा विभाग में 368 प्रधानाचार्य किए नियमित

शिमला : वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में वर्ष 2014 व 15 में पदोन्नत 358 प्रधानाचार्यों को नियमित कर दिया गया है। शिक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि वर्ष 2014 में 171 मुख्याध्यापकों तथा 123 प्रवक्ताओं...

पीने के पानी का उबाल कर ही करें प्रयोग

पीने के पानी का उबाल कर ही करें प्रयोग

सूखा पड़ने के बाद बर्फबारी व वर्षा होने के कारण पेयजल स्त्रोतों के दूषित होने के कारण जल जनित रोगों के फैलने की संभावना शिमला :  लम्बे समय तक सूखा पड़ने के बाद बर्फबारी व वर्षा होने के कारण पेयजल...