धर्म व संस्कृति

हिमाचल की धरा पर प्रसिद्ध “बाबा बालकनाथ दियोटसिद्ध”

हिमाचल की धरा पर प्रसिद्ध “बाबा बालकनाथ दियोटसिद्ध”

हिमाचल में बहुत से प्राचीन व प्रसिद्ध मन्दिर है इन सभी मन्दिरों की अपनी खास महत्ता व विशेषता है ऐसे ही  बाबा बालकनाथ के हिमाचल प्रदेश में तथा बाहर यूं तो अनेक मंदिर हैं किन्तु हिमाचल की इस धरा...

स्वयं में इतिहास समेटे हुए जहां का लोकतंत्र, विश्व का एकमात्र कुल्लू का “मलाणा” गांव

स्वयं में इतिहास समेटे हुए जहां का लोकतंत्र, विश्व का एकमात्र कुल्लू का “मलाणा” गांव

भारत वर्ष में प्राचीन काल से ही जनतंत्रीय प्रणाली रही है। राजा पर भी जनता का अंकुश होता था। पंचायत तंत्र अति प्राचीन है। इसका एक अन्य रूप बरादरी पंचायत है जो बरादरी का नियमन करती है। पंचायत...

भगवान शिव के आंसुओं से हुई थी रुद्राक्ष की उत्पत्ति

भगवान शिव के आंसुओं से हुई थी रुद्राक्ष की उत्पत्ति

रुद्राक्ष की उत्पत्ति शिव के आंसुओं से मानी जाती है। इस बारे में पुराण में एक कथा प्रचलित है। कहते हैं एक बार भगवान शिव ने अपने मन को वश में कर दुनिया के कल्याण के लिए सैकड़ों सालों तक तप किया।...

वशिष्ठ- पुरानी कुल्लुई काठकुणी शैली के हैं सभी मकान

हिमाचल की पौराणिक स्मृतियों को संजोए महर्षि वशिष्ठ का तपस्या स्थल “वशिष्ठ”

हिमाचल प्रदेश के मनाली से करीब चार किलोमीटर दूर लेह राजमार्ग पर स्थित है वशिष्ठ। एक ऐसा गांव जो अपने दामन में पौराणिक स्मृतियां छुपाये हुए है। महर्षि वशिष्ठ ने इसी स्थान पर बैठकर तपस्या की...

हिमाचल में हाथ से बनाए गए पारम्परिक परिधानों की प्रदेश के साथ-साथ देश-विदेश में भी धूम

हिमाचल में हाथ से बनाए गए पारम्परिक परिधानों की प्रदेश के साथ-साथ देश-विदेश में भी धूम

हिमाचली पारम्परिक वस्त्र न केवल प्रदेश में अपितु देश-विदेश में भी लोकप्रिय हिमाचल के भिन्न-भिन्न क्षेत्रों की पहचान वहां का पहरावा जनजातीय जगहों में स्वयं बनाए हुए वस्त्रों को तरजीह...

हिमाचल के सबसे दूर-दराज "डोडरा-क्वार" का इतिहास,संस्कृति व पर्यटन

“डोडरा-क्वार” अपने इतिहास,संस्कृति व पर्यटन के लिए विख्यात

डोडरा-क्वार की सांस्कृतिक यात्रा खेत-खलियान और बड़े बड़े हरे पेड़ पौधों में अपनेपन का एहसास हिमाचल अपने सौंदर्य, इतिहास,संस्कृति व पर्यटन के लिए अपनी विश्वभर में शानदार पहचान बनाए हुए है। ये...

हिमाचल के अन्य भागों से भिन्नता लिए “लाहुल” के लोगों का खान-पान

लाहुल के लोगों का आचार-व्यवहार हिमाचल के अन्य भागों के निवासियों से अनेक रूपों में भिन्नता लिए हुए

हिमाचल प्रदेश के हर जिले की अपने खान-पान की अलग विशेषता है। खासतौर पर त्यौहारों में खाने के लिए बनाए जाने वाले व्यंजन न केवल प्रदेश में अपितु देश व विदेश में भी अपना विशेष महत्ता लिए हुए हैं।...