त्यौहार व मेले

हिमाचल में "घरेसू" (कहारू) जलाकर 8 दिन पहले ही हो जाती है दिवाली शुरू

हिमाचल: गाँव में दिवाली का आठ दिन पहले “घरेसू” (कहारू) जलाकर होता है आगाज

बच्चे सूखी घास के पूले का एक लंबा गटठा बनाकर जिसे आम भाषा में घरेसू या कहारू कहा जाता है। शाम को खाना खाने से पहले अंधेरा होने पर घरों से दूर खलियान, खुले मैदान या जगह पर घुमाते हुए जलाया जाता...

इस बार “करवा चौथ” पर शुभ संयोग: अखंड सौभाग्य वरदान के साथ सुख-समृद्धि का भी प्राप्त होगा आशीर्वाद

इस बार “करवा चौथ” पर शुभ संयोग: अखंड सौभाग्य वरदान के साथ सुख-समृद्धि का भी प्राप्त होगा आशीर्वाद

 सुहागिन महिलाओं को मिलेगा अखंड सौभाग्य करवा चौथ व्रत नियम, पूजा का शुभ मुहूर्त व पूजा-विधि : आचार्य महिंदर कृष्ण शर्मा इस बार करवाचौथ का व्रत और पूजन बहुत विशेष है। ज्योतिषों के मुताबिक इस...

पति-पत्नी के मजबूत रिश्ते, प्यार और विश्वास का प्रतीक: करवा चौथ

पति-पत्नी के मजबूत रिश्ते, प्यार और विश्वास का प्रतीक: करवा चौथ

सभी विवाहित (सुहागिन) महिलाओं के लिये करवा चौथ बहुत महत्वपूर्ण त्यौहार हैं। ये एक दिन का त्यौहार प्रत्येक वर्ष मुख्यतः उत्तरी भारत की विवाहित (सुहागिन) महिलाओं द्वारा मनाया जाता है। इस दिन...

नवरात्रों के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा व सुविधा को लेकर जिला प्रशासन द्वारा व्यापक प्रबंध

नवरात्रों में माता के नौ रुपों की आराधना…

शक्ति के लिए देवी आराधना की सुगमता का कारण मां की करुणा, दया, स्नेह का भाव किसी भी भक्त पर सहज ही हो जाता है। ये कभी भी अपने बच्चे (भक्त) को किसी भी तरह से अक्षम या दुखी नहीं देख सकती है। उनका...

हिमाचल के सबसे दूर-दराज "डोडरा-क्वार" का इतिहास,संस्कृति व पर्यटन

“डोडरा-क्वार” अपने इतिहास,संस्कृति व पर्यटन के लिए विख्यात

डोडरा-क्वार की सांस्कृतिक यात्रा खेत-खलियान और बड़े बड़े हरे पेड़ पौधों में अपनेपन का एहसास हिमाचल अपने सौंदर्य, इतिहास,संस्कृति व पर्यटन के लिए अपनी विश्वभर में शानदार पहचान बनाए हुए है। ये...

"सायर उत्सव" खुशहाली और समृद्धि का पर्व

“सायर उत्सव” खुशहाली और समृद्धि का पर्व

सायर उत्सव  त्यौहार और मेले हिमाचल के लोगों के सांस्कृतिक जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। ऋतुओं ने भी त्यौहारों को विशिष्ट स्वरूप देने में भूमिका निभाई है। हरेक ऋतु से जुड़े हुए त्यौहार हैं।...

ग्राम देवी-देवता के सम्मान में किया जाता है "जागरा"

देवी-देवता के सम्मान में किया जाता है “जागरा”

जागरे का विशेष महत्व इस दिन ग्राम देवी-देवता को किया जाता है घर पर आमन्त्रित हिमाचल देवभूमि है। यहाँ अक्सर देवी-देवताओं की पारम्परिक तरीके से सदियों से पूजा-अर्चना की जाती आ रही है। हर जिले...