त्यौहार व मेले

स्थानीय संस्कृति व मेल-मिलाप के परिचायक हिमाचल के "मेले”

स्थानीय संस्कृति को संजोये हुए हिमाचल के “मेले”

हिमाचल के प्रसिद्ध मेले रहस्यमय स्थानों व  गुफाओं के लिए भी प्रसिद्ध हिमाचल की घाटियां   हिमाचल प्रदेश के प्रसिद्ध मेले   पहाड़ी इलाकों में सर्वत्र सामाजिक जीवन बड़ा विकसित है। उल्लास और...

ग्राम देवी-देवता के सम्मान में किया जाता है "जागरा"

देवी-देवता के सम्मान में किया जाता है “जागरा”

जागरे का विशेष महत्व इस दिन ग्राम देवी-देवता को किया जाता है घर पर आमन्त्रित हिमाचल देवभूमि है। यहाँ अक्सर देवी-देवताओं की पारम्परिक तरीके से सदियों से पूजा-अर्चना की जाती आ रही है। हर जिले...

किन्नौर में मनाया जाता है फूलों का त्यौहार "फुलैच उत्सव"

किन्नौर का “फुलैच उत्सव” यानि फूलों का त्यौहार

भादों के उतरार्द्ध में किन्नौर में मनाया जाता है “फुलैच उत्सव” फूलों का त्यौहार है फुलैच फुलैच वास्तव में फूलों का त्यौहार है जो कि भादों के उतरार्द्ध में अथवा आसुज के प्रारम्भ में मनाया...

भाई-बहन के प्यार और सदभावना से भरा त्यौहार "रक्षाबन्धन"

भाई-बहन के प्यार और सदभावना से भरा त्यौहार “रक्षाबन्धन”

प्राचीन काल से चल आ रहे त्यौहारों में से एक बहुत ही आर्दश प्रेम प्रतीकण् सद्भावनों से भरा हुआ त्यौहार रक्षाबन्धन माना गया है। कच्चे धागा का बन्धन समाज के लोगों में एक आदर्श प्रस्तुत करता है।...

"चेरवाल" भादो माह में मनाया जाता है चेरवाल का त्यौहार

भादो माह में मनाया जाता है हिमाचल का “चेरवाल”

भादों की संक्राति से आरंभ होकर सारा महीना मनाया जाता है चेरवाल शाम के समय चिड़े की पूजा करते हैं परिवार के लोग प्रदेश में हर त्यौहार का अपना विशेष महत्व है। चाहे वो कोई भी त्यौहार हो। ऐसा ही...

चंबा का "मिंजर" रघुवीर व लक्ष्मी नारायण जी को समर्पित

परंपरागत ढंग़ से शताब्दियों से मनाया जा रहा है “चंबा का मिंजर”

चंबा का “मिंजर” रघुवीर व लक्ष्मी नारायण जी को समर्पित चंबा का यह सुप्रसिद्ध वर्षा ऋतु का मेला श्रावण मास के तीसरे रविवार को बड़ी धूमधाम से परपरागत ढंग़ से शताब्दियों से मनाया जा रहा है।...

लाहौल में बेटों के पैदा होने पर “गोची” उत्सव मनाने की परंपरा

लाहौल का पारम्परिक जनजातीय उत्सव गोची : सामूहिक पुत्रोत्सव सामूहिक पुत्रोत्सव का पर्व गोची  आकर्षक, रंगीन एवं मनोरंजक भारी हिमपात एवं भयंकर शीत के बावजूद भी लाहौल में रहती है सामूहिक...