सम्पादकीय

क्यों जल उठी "दिल्ली"? बरसों साथ रहते “इंसान” अचानक बन गए "हिंदू-मुसलमान" 

क्यों जल उठी “दिल्ली”? बरसों साथ रहते “इंसान” अचानक बन गए “हिंदू-मुसलमान” 

…क्यों दहक उठी “दिल्ली” ? दिल्ली की हिंसा अचानक तो नहीं हुई…! सवाल..! आखिर बसे बसाये शहर को उजाड़ने वाले दंगाई कौन थे? किसकी साजिश थी? दिल्ली में नागरिकता संशोधन एक्ट के नाम पर हुई हिंसा की...

एक तरफ महिला सशक्तिकरण तो दूसरी ओर महिलाओं पर देश की लचर कानून व्यवस्था भारी

एक तरफ महिला सशक्तिकरण तो दूसरी ओर महिलाओं पर देश की लचर कानून व्यवस्था भारी

…आज जो हुआ है वह मिसाल, ऐसे अपराधियों का अंजाम यही होना चाहिए आम आदमी की सुरक्षा का जिम्मा हर पुलिस की नैतिक जिम्मेदारी इस प्रकार के मामलों में हर राज्य की पुलिस को तेलंगाना पुलिस से सीख लेने...

“घर" तो वही है जिसमें बचपन में हम सब रहा करते थे, पर अब इस "मकान" में लोग कोई और रहते हैं...

…चलो किसी दिन यूँ करें कि बचपन से ही मिल आएं

बचपन” कभी भी नहीं भूलता। चाहे सुख में कटा हो या दुःख में। भाई-बहन का प्यार, आस-पड़ोस, स्कूल, दोस्त और बड़े-बुजुर्ग सब याद रहते हैं। बचपन में मिट्टी-पत्थरों के छोटे-छोटे घर बनाना, छुपन-छुपाई खेलना,...

क्या देश की लचर कानून व्यवस्था के चलते बेटियां सुरिक्षत नहीं...?

क्या देश की लचर कानून व्यवस्था के चलते बेटियां सुरिक्षत नहीं…?

क्या देश की लचर कानून व्यवस्था के चलते बेटियां सुरिक्षत नहीं…? हमारे देश की कानून व्यवस्था महिलाओं की सुरक्षा के प्रति गंभीर क्यों नहीं है? इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम देने वालों के लिए...

मोदी की सुनामी ने विपक्ष की सभी 'दीवारों' को किया धराशायी

मोदी की सुनामी ने विपक्ष की सभी ‘दीवारों’ को किया धराशायी

हिमाचल में भाजपा शानदार जीत की तरफ आगे बढ़ रही है वहीं देश में भाजपा जीत की ओर अग्रसर होती नजर आ रही है। कांग्रेस को इस वक्त बड़ा झटका लगा है। एक्जिट पोल को हालांकि विपक्ष ने पूरी तरह नकार दिया...

"देश" में इस वक्त "एकता" व "सतर्कता" दोनों जरूरी....

“देश” में इस वक्त “एकता” व “सतर्कता” दोनों जरूरी….

हर देशवासी का फर्ज: संयम बरते और एकजुटता के साथ भारत सरकार व भारत सेना का मनोबल बढ़ाए…. सोशल मीडिया से जुड़े लोग भ्रमित और अफ़वाहों वाले मैसेज न पोस्ट करें देश में “एकता” व “सतर्कता” की...

शहीदों की शहादत सिर्फ कड़ी निंदा, आक्रोश और जुबानी कार्यवाही तक न सिमटे.....

शहीदों की शहादत सिर्फ कड़ी निंदा, आक्रोश और जुबानी कार्यवाही तक न सिमटे…..

जो चैन–अमन के नाम पर हमारे साथ धोखे से चोट कर रहे हैं उन्हें सबक सिखाना होगा पूरा देश शहीद हुए हर जवान के परिवार के साथ गहरी संवेदना लिए खड़ा पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर आतंकी हमले से...